DA Image
Saturday, November 27, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार बेगूसरायमहानायक दिलीप कुमार के निधन से फिल्म जगत की अपूरणीय क्षति

महानायक दिलीप कुमार के निधन से फिल्म जगत की अपूरणीय क्षति

हिन्दुस्तान टीम,बेगुसरायNewswrap
Wed, 07 Jul 2021 07:40 PM
महानायक दिलीप कुमार के निधन से फिल्म जगत की अपूरणीय क्षति

बेगूसराय। हिन्दुस्तान टीम

सिने जगत के दिलीप कुमार सिर्फ नायक नहीं वरन अपने समय के महानायक थे। वे उत्तम कोटि के पटकथा लेखक भी थे। उन्होंने अपनी शारीरिक भाव भंगिमा से उत्कृष्ट कला का प्रदर्शन कर सिने जगत को एक नई दिशा प्रदान किया। भारत सरकार की ओर से उन्हें कई उपाधियों से सम्मानित किया गया। उनके निधन से देश ने एक महान कलाकार को खो दिया। यह बातें दिलीप कुमार के निधन पर श्रद्धांजलि सभा में उपस्थित वक्ताओं ने कहीं। इसका आयोजन तेघड़ा नवयुवक कल्याण मंच ने किया था। अध्यक्षता राजन ने की। रौशन कुमार, देवाशीष, नूतन पुष्प, संजय कुमार, रविशंकर आनंद, पियूष राज एवं विकास आदि ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। मंसूरचक से नि. सं के अनुसार मंसूरचक प्रखंड के मानकी स्टूडियो के सभागार में आयोजित शोक सभा में अमिय कश्यप ने दिलीप कुमार को श्रद्धांजलि दी। दिनकर फिल्मसिटी से जुड़े एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष राकेश कुमार महंथ, अजय अनंत, रंजीत गुप्त, अरुण शांडिल्य, निर्देशक अरविंद पासवान, गायक बबलू आनंद, अभिनेता पंकज पराशर, देवानंद सिंह, रंजन कुमार, संजीव पहलवान आदि सिनेमाई कलाकारों ने भी गहरा शोक व्यक्त किया। गढ़पुरा से नि. सं के अनुसार गढ़पुरा कॉलेज के प्राचार्य प्रोफेसर पंकज कुमार ने बताया कि असाधारण प्रतिभा के धनी सुप्रसिद्ध अभिनेता दिलीप कुमार का निधन हिंदी सिने जगत के लिए एक युग का अंत है। उन्होंने अपने शानदार अभिनय से कलाप्रेमियों के दिलों पर अमिट छाप छोड़ी है। सुहाना सफर और ये मौसम हसीं हमें डर है, हम खो ना जाए कहीं और आज सच में हमने आपको खो दिया। शिक्षाविद धर्म नारायण झा ने कहा कि नया दौर, राम श्याम, गंगा जमुना, मुगल ए आजम आदि उनकी प्रसिद्ध फल्में थी। उसमें उन्होंने बेहतरीन अदा की। कुम्हारसों निवासी कलाप्रेमी दुष्यंत कुमार ने कहा की बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता ट्रेजेडी किंग के नाम से मशहूर दिलीप कुमार के निधन भारतीय सिनेमा जगत के लिए अपूरणीय क्षति है। खोदावन्दपुर से नि. सं के अनुसार नेहरु युवा क्लब नुरूल्लाहपुर के बैनर तले बुधवार को एक शोकसभा कर उनकी आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन धारण किया गया। तौकीर आलम, संजीत कुमार, मुनीब आलम, राकेश कुमार सहित दर्जन भर लोगों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें