DA Image
21 जनवरी, 2021|6:51|IST

अगली स्टोरी

खोदावंदपुर से मटिहानी-मालपुर जर्जर सड़क के जीर्णोद्धार की जगी आस

default image

सुशासन की सरकार भले ही विकास करने का दावा कर रही हो परन्तु खोदावंदपुर में विकास धरातल पर नहीं दिखाई दे रहा है। यहां की कई सड़कें जर्जर हालत में हैं। मुख्यमंत्री नल जल योजना का भी बुरा हाल है। वार्डों में बनने वालह पानी टंकी से घर-घर पाइप नहीं जोड़ा गया है। भारत नीर निर्मल परियोजना भी अभी तक अधर में है। पानी टावर निर्माण का कार्य कच्छप गति से चल रहा है।

खोदावंदपुर प्रखंड मुख्यालय से बजही मटिहानी होकर मालपुर गांव तक जाने वाली सड़क जनप्रतिनिधियों और विभाग के अधिकारियों की उपेक्षा का दंश झेल रही है। लगभग डेढ़ दशक से इस पथ की मरम्मत नहीं हुई है जिसके चलते यह सड़क चलने लायक नहीं है। जगह-जगह गड्ढे बन जाने के कारण इस पथ पर चारपहिया व दोपहिया वाहनों का चलना कठिन है। इस पथ की मरम्मत की मांग पर ध्यान नहीं दिया गया।

इस जर्जर पथ को चकाचक बनाने की मांग कई बार की जा चुकी है। क्षेत्र के लोगों ने बताया कि पूर्व के सांसद मोनाजिर हसन, भोला सिंह, वर्तमान सांसद गिरिराज सिंह एवं बिहार सरकार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा से इस जर्जर पथ के जीर्णोद्धार की मांग की गई थी। बताते चलें कि नवनिर्वाचित विधायक व पूर्व सांसद राजबंशी महतो ने भी अपने ससुर व मालपुर पंचायत के प्रथम मुखिया राधा प्रसाद महतो की पुण्यतिथि पर आयोजित कार्यक्रम में इस पथ के जीर्णोद्धार की जरूरत पर बल दिया था। नवनिर्वाचित विधायक का ससुराल मालपुर गांव में होने से इस पथ के चकाचक बनने की उम्मीद लोगों में जगी है। लोगों का कहना है कि अब जल्द ही इस पथ के जीर्णोद्धार की दिशा में कदम उठाया जा सकेगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Hope of renovation of Khodavandpur to Matihani-Malpur shabby road