DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  बेगूसराय  ›  होनहार साहित्यिक युवा मुचकुन्द मोनू के निधन से मर्माहत
बेगुसराय

होनहार साहित्यिक युवा मुचकुन्द मोनू के निधन से मर्माहत

हिन्दुस्तान टीम,बेगुसरायPublished By: Newswrap
Mon, 19 Apr 2021 06:31 PM
होनहार साहित्यिक युवा मुचकुन्द  मोनू के निधन से मर्माहत

होनहार साहित्यिक युवा मुचकुन्द मोनू के निधन से मर्माहत

गढ़हरा। दिनकर पुस्तकालय सिमरिया के सचिव, सक्रिय सामाजिक कार्यकर्ता और युवा साहित्यकार मुचकुन्द कुमार 'मोनू' के निधन पर जनवादी लेखक संघ बिहार की ओर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गई। उनके शोक संतप्त परिजन के प्रति गहरी सहानुभूति तथा संवेदनाएं व्यक्त करते हुए जनवादी लेखक संघ बिहार के राज्य सचिव कुमार विनीताभ ने कहा कि मुचकुंद मोनू की मौत की खबर सुन लोग स्तब्ध हैं। अल्प अवधि में अपनी प्रतिभा और लगन से जनपद के साहित्यकारों तथा साहित्यप्रेमियों से सहयोग लेकर दिनकर पुस्तकालय के साहित्यिक आयोजनों को गगनचुंबी बनाने में महती भूमिका निभाई। वे दिनकर स्मृति आयोजनों को लेकर निरंतर कल्पनाशील रहते थे। उनके निधन से बेगूसराय जिले ने अपना समर्पित साहित्यिक-सांस्कृतिक पहरुआ खो दिया। यह अपूरणीय क्षति है, जिसकी भरपाई निकट भविष्य में संभव नहीं है। उनकी मौत के लिए कोरोना महामारी से अधिक सरकार के स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही जिम्मेदार है।वहीं स्काउट गाइड जिला संघ गढ़हरा के जिला सचिव जीवानंद मिश्र, एचएम शिवशंकर प्रसाद, सत्येंद्र कुमार मिश्र, लालबहादुर महतो, वार्ड पार्षद पंकज मिश्र, शिक्षक अनिल द्विवेदी,सुधीर कुमार सिंह,सोनू कुमार, विनोद कुमार शर्मा,कन्हैया कुमार,नितेश कुमार,सुशील राणा आदि ने शोक संवेदना व्यक्त किया।

संबंधित खबरें