DA Image
6 अगस्त, 2020|9:34|IST

अगली स्टोरी

बूढ़ी गंडक के जलस्तर में लगातार वृद्धि से सता रहा बाढ़ का भय

default image

बूढ़ी गंडक नदी के जलस्तर में लगातार बढ़ोत्तरी के बाद शनिवार को नुरूल्लाहपुर, बेगमपुर व मालपुर गांव के निकट तटबंध में सीपेज के बाद प्रखंड क्षेत्र के लोग संभावित बाढ़ के खतरे से सहमे हुए हैं। नदी के तटवर्ती इलाके के दर्जनों गांव के लोग रतजग्गा करने को मजबूर हैं। इस संबंध में ग्रामीणों ने बताया कि नदी के जलस्तर में लगातार वृद्धि व तीव्र धारा के कारण क्षेत्र के बिदुलिया, नुरूल्लाहपुर, मालपुर, बेगमपुर व ताराबरियारपुर गांव के निकट बायें तटबंध में कटाव हो रहा है।

नुरूल्लाहपुर गांव के काली मंदिर, बेगमपुर तथा मालपुर गांव के निकट शनिवार की सुबह तटबंध में सीपेज से लोगों में भय का वातावरण दिख रहा है। लोग अपने-अपने सामानों को समेटने लगे। ग्रामीणों की सूचना पर मौके पर पहुंचे सीओ सुबोध कुमार व थानाध्यक्ष दिनेश कुमार ने बाढ नियंत्रण प्रमंडल रोसड़ा के इंजीनियर को बुला कर सभी रिसाव स्थल पर मरम्मत का काम शुरू कराया। नुरूल्लाहपुर, बेगमपुर सहित अन्य गांव के लोग तटबंध पर टेन्ट लगाकर बांध की सुरक्षा में तैनात हैं। इसके बावजूद तटबंध के तटीय क्षेत्र बिदुलिया, मेघौल, मालपुर, बरियारपुर पश्चिमी, मिर्जापुर, नुरूल्लाहपुर, बेगमपुर सहित अनेक गांव के लोग संभावित बाढ के खतरे से सहमे हुए हैं। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि बाढ़ पूर्व तैयारी में बाढ़ प्रमंडल रोसड़ा की ढुलमुल नीति के कारण खोदावंदपुर प्रखंड क्षेत्र पर बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Fear of floods continues to haunt floods of old Gandak