DA Image
28 सितम्बर, 2020|8:17|IST

अगली स्टोरी

सामूहिक हड़ताल पर गए किसान सलाहकार

default image

लम्बित मांगों की पूर्त्ति नहीं होने से नाराज़ बलिया प्रखंड के सभी किसान सलाहकार सोमवार से सामूहिक हड़ताल पर चले गए। साथ ही मंगलवार को सरकार के इस रवैये के खिलाफ ई-किसान भवन के समक्ष आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन भी किया। किसान सलाहकार शशिकांत सिंह, अमित कुमार, धीरेन्द्र कुमार, गणेश कुमार, अमर कुमार, अमरजीत कुमार आदि ने बताया कि किसान सलाहकार को तकनीकी कर्मीं की तरह सरकारी लाभ देने एवं किसानों के लिए गठित तीन सदस्यीय कमेटी की रिपोर्ट लागू करने को लेकर लगातार आन्दोलन जारी है।

इसके बावजूद बिहार सरकार द्वारा किसान सलाहकारों के मांगों की अनदेखी की जा रही है। फलस्वरूप सरकार के इस रवैये से नाराज किसान सलाहकारों को 31 अगस्त से लेकर 10 सितंबर तक सामूहिक हड़ताल पर जाना पड़ा है। यह भी कहा कि इस हड़ताल के बावजूद सरकार उनकी मांगों पर यदि विचार नहीं करती है तो बाध्य होकर यह आन्दोलन और भी तेज किया जाएगा। इसकी सारी जवाबदेही बिहार सरकार के कृषि विभाग की होगी। उन्होंने बताया कि इस आंदोलन के दौरान सुपौल के राजेन्द्र मेहता एवं कैमूर के नीरज कुमार की असामयिक मृत्यु हो चुकी है। जो काफी खेदजनक है। मौके पर दिग्विजय सिंह, राजेश कुमार सिंह, परशुराम कुमार,बीरेन्द्र कुमार आदि थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Farmer advisors went on mass strike