DA Image
Tuesday, November 30, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार बेगूसरायरबी महाभियान पर पंचायत चुनाव और पर्व-त्योहार का प्रभाव, आज होगी समीक्षा

रबी महाभियान पर पंचायत चुनाव और पर्व-त्योहार का प्रभाव, आज होगी समीक्षा

हिन्दुस्तान टीम,बेगुसरायNewswrap
Sun, 14 Nov 2021 06:50 PM
रबी महाभियान पर पंचायत चुनाव और पर्व-त्योहार का प्रभाव, आज होगी समीक्षा

सिंघौल। निज संवाददाता

साल 2021 किसानों के लिए मुसीबतों भरा रहा है। इस साल हुई अत्यधिक वर्षा के कारण जिले की हजारों एकड़ भूमि में जलजमाव के कारण परती रह गई। रही सही कसर आयी विनाशकारी बाढ़ ने पूरी कर दी। बाढ़ की वजह से भी जिले के हजारों एकड़ की फसल पूरी तरह बर्बाद हो गई। किसानों को अपने फसल क्षतिपूर्ति का इंतजार है। इस बीच कृषि विभाग की ओर से रबी महाभियान की जोर शोर से शुरुआत की गई। मुख्यमंत्री ने स्वयं पटना में जागरूकता रथ को गांव-गांव के लिए रवाना किया। जिला स्तरीय कृषि कार्यालय की ओर से जिले के सभी 18 प्रखंड के लिए दो दिवसीय प्रखंड स्तरीय प्रशिक्षण का आयोजन का शेड्यूल जारी किया गया। जिला कृषि अधिकारी राजेश प्रताप सिंह ने बताया अधिकांश स्थानों पर प्रशिक्षण सह कर्मशाला का आयोजन सफ़लतापूर्वक आयोजित कर लिया गया है। साथ ही किसानों के बीच बीज वितरण का कार्य भी चल रहा है। सोमवार को आयोजित समीक्षा बैठक में पूरे जिले में बीज वितरण, रबी महाभियान को सफल बनाने की समीक्षा की जाएगी। बैठक में कृषि अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया जाएगा ताकि निर्धारित लक्ष्य की प्राप्ति की जा सके।

पंचायत चुनाव व पर्व त्योहार का दिखा असर

रबी महाभियान के तहत प्रखंड स्तरीय कर्मशाला पंचायत चुनाव और दीपावली और छठ पर्व से काफी प्रभावित रहा। पंचायत चुनाव के कारण लोगों में अभी एक अलग उत्साह नजर आ रहा है। इस वजह से किसान प्रखंड स्तरीय कर्मशाला को दिलो-दिमाग से अलग रख रहे हैं। वहीं विभाग की ओर से दीपावली और छठ की छुट्टियों में भी प्रखंड स्तरीय प्रशिक्षण का शेड्यूल जारी किया गया था। इसका भी महाभियान की सफलता पर नकारात्मक असर देखने को मिला। कई प्रखंड के किसानों को पता भी नहीं चल सका कि कब उनके प्रखंड में कर्मशाला सह उपादान वितरण का कार्यक्रम आयोजित किया गया। हालांकि, समीक्षा बैठक के बाद रबी महाभियान की सफलता के लिए नई कार्ययोजना तैयार की जा सकती है।

जिले में सवा लाख हेक्टेयर में होती है रबी की खेती

जिला कृषि विभाग की ओर से पिछले वर्ष रबी सीजन में 36 हज़ार हेक्टेयर में मक्का, गेहूं 65 हजार हेक्टेयर में, चना 520 हेक्टेयर में, मसूर की खेती में 1640 हेक्टेयर में, मटर की खेती 1720 हेक्टेयर में, अन्य दलहन की खेती 540 हेक्टेयर में, और 10 हजार 250 हेक्टेयर में सरसों की खेती का लक्ष्य रखा गया है।

दियारा क्षेत्र से निकल रहा पानी

दियारा क्षेत्र के किसानों के लिए राहत की बात इतनी है पानी से डूबे खेत से अब पानी निकल रहा है। ऐसे में देर होने के बावजूद किसान उन खेतों में दिन रात एक कर जुताई-बुआई के काम में जुट गए हैं। गौरतलब है कि गंगा नदी में आयी भीषण बाढ़ के कारण नदी किनारे के दियारा क्षेत्र में पिछले कई माह से पानी भरा हुआ था। इस वजह से इस क्षेत्र के किसान रबी फसल की बुआई से वंचित थे।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें