DA Image
12 अगस्त, 2020|11:59|IST

अगली स्टोरी

कस्तूरबा विद्यालय में नियोजन प्रक्रिया पर लगा है ग्रहण

default image

कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में नियोजन को लेकर आवेदन जमा लेने के डेढ़ साल से अधिक समय बीत गये लेकिन अब तक परीक्षा नहीं हो पायी है। एक तो कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन, ऊपर से अधिकारियों की लापरवाही के पेंच में नियोजन प्रक्रिया फंसकर रह गयी है। सबसे बड़ी समस्या इस साल संभावित विधानसभा चुनाव को लेकर लगने वाला आचार संहिता है। इससे कस्तूरबा कर्मी का बनने का सपना पाने वाले अभ्यर्थियों में जिला प्रशासन के प्रति आक्रोश बढ़ने लगा है। आवेदकों का आरोप है कि जल्दबाजी में परीक्षा नहीं ली गयी तो विधानसभा चुनाव को लेकर कभी भी आचार संहिता लग सकती है। इससे नियोजन प्रक्रिया बाधित हो जाएगी। यदि समय रहते नियोजन प्रक्रिया पूरी नहीं हुई तो सरकार गठन के बाद ही नियोजन की प्रक्रिया पूरा होना संभव दिख रहा है।

समग्र शिक्षा अभियान कार्यालय की ओर से डीएम को भेजी रिपोर्ट के अनुसार 127 सीटों के लिए 1714 आवेदन वैध पाये गये।। राज्य परियोजना निदेशक पटना द्वारा 19 फरवरी 2016 के निर्देश पर 29 अगस्त 2018 को जिला नियोजन समिति की बैठक हुई थी। इसमें कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय में 127 रिक्त पदों पर नियोजन के लिए दो नवंबर 2018 तक आवेदन जमा लेने की तिथि निर्धारित की गयी। उसके बाद संशोधित करते हुए 21 नवंबर तक बढ़ाया गया। प्राप्त 2102 आवेदनों में से आपत्ति व निराकरण के बाद 1714 आवेदन वैध पाये गये। नियोजन के लिए क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक मुंगेर द्वारा आरक्षण रोस्टर का अनुमोदन प्राप्त है।

बताया जाता है कि नियोजन की प्रक्रिया शुरू कराने के लिए डीएम की ओर से एक नोडल अधिकारी को नामित किया गया। उन अधिकारियों को ससमय प्रश्नपत्र सेट कराने की जिम्मेवारी सौंपी गयी थी। लेकिन नामित अधिकारी द्वारा टालमटोल की नीति अपनाये जाने से प्रतियोगिता परीक्षा ठंडे बस्ते में पड़ा है।

इन रिक्त पदों पर इतने वैध पाये गये आवेदन

पद का नाम कुल रिक्त पद वैध आवेदन

वार्डन सह शिक्षिका 11 341

अंशकालिक शिक्षिका 13 51

भाशा अंश कालिका शिक्षिका 14 76

विज्ञान अंशकालिका शिक्षिका 9 102

सामाजिक विज्ञान 14 375

लेखापाल सह सहायक 14 490

रात्रि प्रहरी 12 147

मुख्य रसोईया 13 83

सहायक रसोईया 27 49

कहते हैं अधिकारी

अभी तो कार्यालय का प्रभार ही लिये हैं। कस्तूरबा नियोजन की प्रक्रिया डीएम के पास है। लॉकडाउन खत्म होने के बाद आदेश मिलते ही नियोजन की प्रक्रिया शुरू होगी।

राजकुमार शर्मा, डीपीओ, समग्र शिक्षा अभियान

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Eclipse on planning process in Kasturba school