DA Image
Sunday, December 5, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार बेगूसरायबूढ़ी गंडक के जलस्तर में वृद्धि से फसलों पर संकट गहराया

बूढ़ी गंडक के जलस्तर में वृद्धि से फसलों पर संकट गहराया

हिन्दुस्तान टीम,बेगुसरायNewswrap
Sun, 27 Jun 2021 07:50 PM
बूढ़ी गंडक के जलस्तर में वृद्धि से फसलों पर संकट गहराया

नावकोठी। निज संवाददाता

मौनसून की वर्षा का असर बूढ़ी गंडक के जल स्तर पर भी पड़ा है। जलस्तर में वृद्धि हो रही है। इससे तटबंध पर कटाव का खतरा मंडरा रहा है। साथ ही, दियारा क्षेत्रों में लगी फसलों में भी बूढ़ी गंडक का पानी फैलना शुरु हो गया है। दियारा क्षेत्र में मकई, अरहर, ढैंचा, परवल सहित अन्य सब्जियों के खेत में पानी प्रवेश कर रहा है। इससे किसानों को नुकसान हो रहा है।

प्रखंड की महेशवाड़ा पंचायत के महेशवाड़ा, बभनगामा, पहसारा पश्चिम पंचायत का पहसारा, डफरपुर पंचायत के वृन्दावन, टेकनपुरा, डफरपुर पश्चिम, डफरपुर पूर्वी, कमलपुर, छतौना, नावकोठी, हसनपुर बागर पंचायत के हसनपुर बागर, नाथ बागर, इसफा, डंडारी प्रखंड के सिसौनी, तुरकिया, विष्णुपुर के मनेरपुर, नीरपुर व समसा का अधिकांश भाग बूढ़ी गंडक नदी के तटबंध के आसपास स्थित है।

बूढ़ी गंडक नदी पर बने बांध पर कटाव का संकट मड़रा रहा है। वर्षा से बांध की मिट्टी कटती जा रही है और बांध की ऊंचाई कम पड़ती जा रही है। यदि बूढ़ी गंडक के जलस्तर में ऐसे ही बेतहाशा वृद्धि होती रही तो पानी बांध तोड़े बगैर ही गांव में प्रवेश कर सकता है। वर्षा में बांध की मिट्टी प्रत्येक वर्ष कटकर बह जाती है। इससे बांध में जगह-जगह दरारें तथा गड्ढे हो रहे हैं। इससे लोगों को आवाजाही में भी परेशानी होती है। जहां बांध पर सरपट गाड़ियां दौड़ा करतीं थीं वहां दरारें एवं पशु शेड, डेरा के कारण बांध सिमटने से आने-जाने की कठिनाई हो रही है। डफरपुर निवासी राकेश कुमार, छोटू, बबलू आदि बताते हैं कि बाढ़ आने के पूर्व बांध की मरम्मत तथा उस पर मिट्टी भराई वगैरह का ख्याल प्रशासन को नहीं रहता है। जब बाढ़ का समय नजदीक आ जाता है तभी इस तरफ प्रशासन का ध्यान जाता है। हसनपुर बागर निवासी अभिषेक चौहान, इसफा के मो. नाज, मनोज कुमार बताते हैं कि बांध की मरम्मत प्रत्येक वर्ष होनी चाहिए। साथ ही, बांध पर पक्की सड़क का निर्माण कराया जाना चाहिए। बांध पर पशुओं का शेड बनाना और पशु बांधना उचित नहीं है। इससे बांध की मिट्टी कटती है और आवाजाही का संकट पैदा होता है। इसलिए प्रशासन को चाहिए कि बांध की सुरक्षा के लिए कठोर कदम उठाए। बभनगामा हाई स्कूल, पहसारा, वृन्दावन, टेकनपुरा, डफरपुर, कमलपुर, नावकोठी, हसनपुर बागर में बूढ़ी गंडक में कटाई तेजी से हो रही है। बभनगामा हाई स्कूल, वृन्दावन, डफरपुर, कमलपुर में प्रशासन की ओर से बाढ़ निरोधक कार्य किया जा रहा है। अंचलाधिकारी राकेश सिंह यादव ने कहा कि बाढ़ पूर्व तैयारी शुरू कर दी गयी है। बांध की सुरक्षा का भी प्रशासन ख्याल रख रहा है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें