ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार बेगूसरायजलनिकासी नहीं होने से मानसूनी बारिश में इस साल डूब जाएगा शहर

जलनिकासी नहीं होने से मानसूनी बारिश में इस साल डूब जाएगा शहर

मुख्य नाला का निर्माण नहीं होने से हर साल फजीहत झेल रहे हैं शहरवासी... समसस्याओं से जूझना पड़ रहा है। खासकर मानसूनी बारिश में तो शहरी क्षेत्र में जलजमाव की समस्या किसी से छुपी...

जलनिकासी नहीं होने से मानसूनी बारिश में इस साल डूब जाएगा शहर
हिन्दुस्तान टीम,बेगुसरायTue, 14 May 2024 08:15 PM
ऐप पर पढ़ें

बेगूसराय, निज प्रतिनिधि। शहर से गुजरने वाली एनएच-31 पर फोरलेन व फ्लाईओवर निर्माण कार्य होने की वजह से शहर का मुख्य नाला का निर्माण कार्य बाधित है। मुख्य नाला नहीं बनने की वजह से शहरी क्षेत्र से पानी की निकासी सही तरीके से नहीं हो रही है। नतीजा होता है सालोंभर शहरवासियों को जलजमाव की समसस्याओं से जूझना पड़ रहा है। खासकर मानसूनी बारिश में तो शहरी क्षेत्र में जलजमाव की समस्या किसी से छुपी नहीं है। फ्लाईओवर निर्माण के कारण मुख्य नाला नहीं बनने से इस साल भी लगता है कि शहरवासियों को जलजमाव की भीषण समस्याओं से जूझना होगा। हालांकि निगम प्रशासन की ओर से प्रयास है कि मानसून पूर्व शहर के हर मुख्य नाले की उड़ाही कराने की।

इस साल नौ मई को हुई मानसून पूर्व वर्षा से जलजमाव से मुक्ति के दावे की पोल खुल गयी। वर्षा के समय में सबसे खराब स्थिति स्टेशन रोड, तिलकर नगर, अशोक नगर पोखरिया, मीरगंज, मुंगेरीगंज, कॉलेजिएट रोड, लोहियानगर मोहल्ला, महमदपुर, चाणक्य नगर मोहल्ला, कैटिंन चौक, बाघी, बाघा मोहल्ला में तो वर्षा के पानी से लोगों का जीना हराम हो जाता है। गंदा पानी सड़क से होकर बहने लगता है। जबकि निगम कार्यालय का दावा है कि एक अभियान के तहत शहर से गुजरने वाली हर मुख्य नाले की उड़ाही प्रतिदिन करायी जा रही है। नाले पर जहां ढक्कन खराब थे उसे या ठीक कराया जा रहा है या उसे बदल दिया जा रहा है। लेकिन जमीनी हकीकत बयां कर रहा है कि मुख्य नाले की सफाई सही तरीके से नहीं हो रही है। मुख्य नाले के अलावा भी मध्य व कम चौड़ाई वाले नाले हैं जिसकी उड़ाही नहीं है। उड़ाही नहीं होने की वजह से कई ऐसे मोहल्ले हैं जहां मई व जून माह में गंदा पानी सड़क पर बहता रहता है।

कहती हैं मुख्य पार्षद

निगम क्षेत्र के सभी मुख्य नाले की उड़ाही प्रतिदिन हो रही है। इसमें 25 से 30 मजदूर लगे हुए हैं। शहर से पानी निकासी के लिए आउटलेट नहीं है। एनएचआई की वजह से मुख्य नाला का निर्माण नहीं हो रहा है। जबतक मुख्य नाला का निर्माण नहीं होता है तबतक शहर से पानी का निकलना परेशानी सबब बना हुआ है। एनएचआई से लेकर जिला प्रशासन से लिखित शिकायत करते हुए अतिशीघ्र मुख्य नाला बनाने की मांग की जा चुकी है। निगम का प्रयास है कि शहरवासियों को इस साल जलजमाव से मुक्ति दिलाना।

पिंकी देवी, मुख्य पार्षद

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।