DA Image
Wednesday, December 1, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार बेगूसरायनिचली भूमि में जलजमाव से रबी फसल की बुआई पर संकट

निचली भूमि में जलजमाव से रबी फसल की बुआई पर संकट

हिन्दुस्तान टीम,बेगुसरायNewswrap
Sun, 14 Nov 2021 07:10 PM
निचली भूमि में जलजमाव से रबी फसल की बुआई पर संकट

गढ़पुरा। निज संवाददाता

प्रखंड क्षेत्र में रबी फसल की बुआई को लेकर किसान जहां एक तरफ ऊपरी भूमि में तैयारी कर रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ बड़े भू-भाग में जलजमाव से खेती भी प्रभावित हो रही है। किसानों को इसके कारण काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। क्षेत्र के लोग गन्ने की शरद कालीन रोप के साथ ही गेहूं समेत कई अन्य फसलों की बुआई में लगे हैं,पर जहां जलजमाव है वहां खेती प्रभावित हो गई है।

मणिकपुर गांव के किसान राम उजागर यादव, राम स्वार्थ यादव आदि ने बताया कि काबर के कछार में पूरा बहियार डूबा हुआ है। स्थिति को देखकर ऐसा लगता है कि जनवरी-फरवरी तक भी पानी सूखना मुश्किल है। इस बार मानसून में बेतहाशा पानी हुई जिसका नतीजा है कि प्रखंड क्षेत्र का खेती योग्य आधा भाग डूबा हुआ है। इसी का नतीजा है कि कृषि विभाग ने भी विभिन्न फसलों के प्रत्यक्षण और आच्छादित रकबे को कम कर दिया है। कुम्हारसों गांव के किसान रामप्रताप राय, सरयुग राय आदि ने बताया कि हम लोगों के पास खेती करने लायक जो जमीन है वह सब डूबा हुआ है। किसान चौरों से जल निकासी की समस्या को लेकर समाधान के लिए कई बार मुद्दे उठाए लेकिन इसका अब तक समाधान नहीं निकल पाया है। गढ़पुरा प्रखंड क्षेत्र में एक दर्जन से अधिक चौर है जहां खेती हो पाना संभव नहीं है। खासकर छोटे और मंझोले किसान जिनका खेती योग्य रकबा कम है उन लोगों को इससे ज्यादा नुकसान हो रहा है। मौजी हरि सिंह पंचायत के पूर्व सरपंच देवानंद यादव, घुरन यादव आदि ने बताया कि फसल डूबने के बावजूद भी किसानों को सरकारी सहायता नहीं मिल पा रही है। आखिर किसान करें तो करें क्या? कहां जाएं, किसको दुखड़ा सुनाएं। यह सारे सवाल अपने आप में महत्वपूर्ण है। हसनपुर चीनी मिल के कार्यपालक उपाध्यक्ष गन्ना शंभू प्रसाद राय ने बताया कि गढ़पुरा प्रखंड क्षेत्र और इसके आसपास के प्रखंडों के निचले भूभाग में जब तक जल निकासी की समस्या का समाधान नहीं होगा तब तक यहां के किसान खेती के लिए मुश्किलों का सामना करते रहेंगे। उन्होंने बताया कि हमने इस संबंध में समस्या को सीएम हाउस तक पहुंचाया है। विभागीय स्तर से इसका सर्वे भी हो चुका है, जरूरत है इसके समाधान की।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें