DA Image
27 अक्तूबर, 2020|3:35|IST

अगली स्टोरी

कैंसर पीड़ित वार्ड सदस्य को नहीं मिली सहायता राशि

default image

कैंसर से जूझ रहे दलित समुदाय के वार्ड सदस्य के लिए चिकित्सा सहायता कोष से राशि भेजी गई। बिहार सरकार द्वारा भेजे इस मद के 60 हजार रुपए गरीब पीड़ित परिवार को नहीं मिले। पीड़ित परिवार सरकार की ओर सहायता राशि पाने के लिए टकटकी लगाए हुए है। बिहार सरकार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय ने पीड़ित परिवार को व्यक्तिगत तौर पर पत्र लिखकर विभाग द्वारा सहायता राशि के रूप में 60 हजार रुपए भेजे जाने की जानकारी दी। साथ ही, इस राशि से इलाज करवाने के बाद उनके स्वस्थ होने की कामना के साथ कुशल क्षेम पूछा। तब जाकर सरकार द्वारा राशि भेजे जाने का यह मामला उजागर हुआ। सहायता राशि भेज दिए जाने के बाद भी यह राशि पीड़ित परिवार को अब तक नहीं मिलने से सरकारी सिस्टम के क्रियाकलाप पर सवाल खड़ा हो गया है।

मेघौल पंचायत के मलमल्ला गांव के पासवान टोला निवासी राम सुधारी पासवान कैंसर पीड़ित हैं। वह पंचायत के वार्ड नं. 12 के वार्ड सदस्य हैं। जानकारी के अनुसार अत्यंत गरीब परिवार से जुड़े इस वार्ड सदस्य के परिजनों ने इलाज के लिए बिहार सरकार के स्वास्थ्य मंत्री से सरकारी सहायता राशि देने की गुहार लगाई थी। इस गुहार पर स्वास्थ्य मंत्री ने चिकित्सा सहायता राशि कोष से पीड़ित परिवार को 60 हजार रुपए भेज दिया था। राशि भेजने के बाद स्वास्थ्य मंत्री ने स्वयं पत्र लिखकर इसकी जानकारी कैंसर पीड़ित वार्ड सदस्य को दी है।

आखिर कहां गई राशि!

स्वास्थ्य मंत्री के सौजन्य से भेजी गई सहायता राशि पीड़ित परिवार तक नहीं पहुंची। आखिर यह राशि कहां गई। यह प्रश्न लोगों के मन में उठ रहा है। लोग सरकारी सिस्टम के क्रियाकलाप पर सवाल खड़ा कर रहे हैं। दूसरी ओर पीड़ित परिवार राशि नहीं मिलने से परेशान है। गरीब दलित वार्ड सदस्य कैंसर से जूझ रहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Cancer affected ward member did not get help