ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार बेगूसरायपोते के बाद दादी की भी डायरिया से हुई मौत

पोते के बाद दादी की भी डायरिया से हुई मौत

मामला बीहट नगर परिषद के वार्ड नं. 23 काय सदर अस्पताल ले जाने लगे लेकिन उसी दौरान रास्ते में ही उनकी मौत हो गई। इसके पहले तारा देवी के पोते 13 वर्षीय लक्ष्मण उर्फ गब्बर की मौत डायरिया की वजह से 26 मई...

पोते के बाद दादी की भी डायरिया से हुई मौत
हिन्दुस्तान टीम,बेगुसरायWed, 29 May 2024 08:00 PM
ऐप पर पढ़ें

बीहट, निज संवाददाता। पोते के बाद दादी की भी डायरिया से मौत हो गई। बीहट नगर परिषद के वार्ड 23 निवासी 65 वर्षीया तारा देवी को मंगलवार की शाम बरौनी सीएचसी में भर्ती कराया गया था। बुधवार की सुबह बरौनी सीएचसी से सदर अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया। परिजन दोपहर तीन बजे के बाद उन्हें बेगूयराय सदर अस्पताल ले जाने लगे लेकिन उसी दौरान रास्ते में ही उनकी मौत हो गई। इसके पहले तारा देवी के पोते 13 वर्षीय लक्ष्मण उर्फ गब्बर की मौत डायरिया की वजह से 26 मई को हो गई।
वार्ड पार्षद प्रतिनिधि नारायण सिंह ने बताया कि बुधवार की सुबह डायरिया की वजह से तबियत खराब होने की जानकारी मिलने के बाद मोहल्ले के पांच लोगों को बरौनी भेजा। बरौनी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में इलाज के बाद एक को छुट्टी दे दी गई जबकि तीन को बेगूसराय सदर अस्पताल रेफर किया गया। मनोज चौधरी की 14 वर्षीया पुत्री अंजलि का इलाज बरौनी पीएचसी में चल रहा है। डायरिया से आक्रांत अन्य का इलाज सदर अस्पताल समेत बेगूसराय के अन्य निजी क्लीनिक में चल रहा है।

रामउदगार दास के परिवार के सभी सदस्य डायरिया से पीड़ित

डायरिया की गिरफ्त में लोग तेजी से आ रहे हैं। 26 मई को रामउदगार दास के 13 वर्षीय पुत्र लक्ष्मण उर्फ गब्बर की मौत के बाद से परिवार समेत आसपास के लोग ज्यादा बीमार पड़ रहे हैं। रामउदगार दास के परिवार के आठ से अधिक लोग डायरिया से आक्रांत हैं। रामउदगार दास चार भाई हैं और चारों भाई का परिवार डायरिया से आक्रांत है। 26 मई को बेटे तथा आज मां की मौत के बाद परिवार पर विपत्ति का पहाड़ टूट पड़ा है। रामउदगार दास की पुत्रवधू, पुत्र विकास कुमार, मुकेश दास की पुत्री आरूषि कुमारी, रामप्रवेश दास की पुत्री भारती, राजू दास की पत्नी ललिता देवी समेत दर्जनाधिक लोग डायरिया से पीड़ित हैं। बरौनी सीएचसी प्रभारी संतोष कुमार झा ने बताया कि स्थिति की मॉनिटरिंग लगातार की जा रही है। कै-दस्त तथा पतला पखाना होने पर अविलंब डॉक्टर से संपर्क करने की सलाह दी जा रही है।

दो की मौत से सहमे हैं मोहल्ले के लोग

डायरिया से दो की मौत के बाद लोग सहमे हुए हैं। हालांकि, मंगलवार को वार्ड पार्षद प्रतिनिधि नारायण सिंह के द्वारा सूचना मिलने के बाद बरौनी स्वास्थ्य केन्द्र की टीम ने मोहल्ले में आकर लोगों के बीच जरूरी दवा का वितरण भी किया था। नगर प्रशासन की ओर से मोहल्ले में फैले कचरे को हटाया भी गया लेकिन डायरिया आंक्रात की बढ़ रही संख्या से लोग काफी डरे हुए हैं। कई लोग अपने रिश्तेदार के यहां चले गये हैं। वार्ड पार्षद प्रतिनिधि समेत अन्य जनप्रतिनिधियों ने इसे प्राकृतिक आपदा करार देते हुए जिला प्रशासन से पीड़ित परिवार को मुआवजा देने की भी मांग की है। बीहट नगर मंडल भाजपा अध्यक्ष यशस्वी आनंद, छात्र नेता रामकृष्ण, सौरभ कुमार, राकेश कुमार समेत अन्य ने कहा है कि जिला प्रशासन को इस मामले पर अविलंब ध्यान देना चाहिए।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।