अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीईओ आफिस में भ्रष्टाचार खत्म होने तक आंदोलन : एबीवीपी

शिक्षा में भ्रष्टाचार के खिलाफ चलाए जा रहे शिक्षा बचाओ आंदोलन के तहत गुरुवार को विधान पार्षद रजनीश कुमार के आवास पर जाकर अभाविप के सदस्यों ने मांग पत्र सौंपा। भ्रष्टाचार में संलिप्त लोगों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की। राष्ट्रीय कार्यकारी सदस्य अजीत चौधरी ने कहा कि जिला शिक्षा कार्यालय में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है। डीईओ एक तो नियम के विरुद्ध शिक्षक का तबादला करते हैं बाद में जांच में फंसने के डर से तबादला वापस लेते हैं। जब छात्र आंदोलन करते हैं तो जिला इसे जातिगत व राजनीतिक मुद्दा बनाना चाहते हैं, ताकि उनके द्वारा की गयी गड़बड़ी के मामलेी दब जायें। कोई भी पदाधिकारी जाति पूछकर घूस नहीं लेता है। जान-बूझकर भ्रष्टाचार के मामले को दबाने के लिए जातिगत रंग दिया जा रहा है।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद विधान पार्षद को नियम के विरुद्ध तबादला, डीईओ के वाहन में शराब मामले की जांच, साइकिल पोशाक की दो से ढाई करोड़ राशि वापस होने, छात्रवृत्ति की 10 करोड़ वापसी तथा कार्यालय में भ्रष्टाचार करने वालों पर जांच कर कड़ी कार्रवाई की मांग की। मौके पर विश्वविद्यालय उपाध्यक्ष अभिज्ञात कुमार, नगर मंत्री घनश्याम देव, सह मंत्री अंकुर गौतम कुमार, आशीष कुमार, अंशु, आशीष कुमार, गोलू, सोशल मीडिया प्रभारी भीम कुमार थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:15 lakh to construct road construction