DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › बांका › तूफान ने मचाई तबाही, बारिश ने बढाई आम व लीची की मिठास
बांका

तूफान ने मचाई तबाही, बारिश ने बढाई आम व लीची की मिठास

हिन्दुस्तान टीम,बांकाPublished By: Newswrap
Fri, 28 May 2021 05:00 AM
तूफान ने मचाई तबाही, बारिश ने बढाई आम व लीची की मिठास

तूफान ने मचाई तबाही, बारिश ने बढाई आम व लीची की मिठास

अब तक जिले में 472.6 एमएम हुई बारिश

जिले का औसत वर्षापात 42.8 एमएम किया गया रिकार्ड

बांका। निज प्रतिनिधि

बंगाल की खाडी से उठे प्रचंड चक्रवाती तूफान यास झारखंड राज्य में प्रवेश कर गया है। जिसका असर बांका जिले में भी हुआ है और तूफान ने क्षेत्र में भी तबाही मचाई है। जिसमें कई लोगों के कच्चे मकान तूफान में क्षतिग्रस्त हो गए। कई इलाकों में पेड़ व बिजली के खंभों को भी नुकसान हुआ है। जिससे पिछले तीन दिनों से क्षेत्र में बिजली की आंख-मिचैली जारी है और लोगों को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि तूफान के साथ क्षेत्र में पिछले तीन दिनों से हो रही बारिश ने आम और लीची की मिठास बढा दी है। यहां अब तक 472.6 एमएम बारिश रिकार्ड किये गये हैं। जबकि जिले का औसत वर्षापात 42.8 मीली मीटर है। गत जनवरी, फरवरी व मार्च में एक बूंद भी बारिश नहीं होने से किसानों की परेशानी बढ गई थी। जिससे उन्हें फसलों की सिचाई के लिए अतिरिक्त पैसे खर्च करने पड रहे थे। नदियों व नहरों से पानी नहीं रहने से उन्हें अपनी व्यवस्था से सिंचाई करनी पड़ रही थी। लेकिन इस बारिश से जहां लोगों को गर्मी से निजात मिला है, वहीं, फसलों की भी सिंचाई हो गई है। मौसम वैज्ञानिक जुबुली साहू ने बताया कि क्षेत्र में यान तूफान का प्रकोप 30 तक जारी रहेगा। जिससे यहां तेज हवा व तूफान के साथ ही बारिश की संभावना बनी रहेगी। तूफान के प्रकोप से आसमान में बादल छाये रहेंगे, लेकिन दिन में बारिश और धूप निकलने का सिलसिला भी जारी रहेगा। इसको लेकर मौसम विभाग ने पूर्व में ही लोगों का अलर्ट करते हुए इससे बचने की सलाह दी थी। तूफान की वजह से क्षेत्र में नुकसान होने की भी संभावना बनी हुई है।

फोटो: 1

गुरूवार को तूफान के कारण शहर का ह्दयस्थल गांधी चौंक शांत पड़ा हुआ

सब्जी व मूंग के फसल पानी में डूबने से किसानों को क्षति

बांका। नगर संवाददाता

तूफान के कारण जिलेभर में लगातार दो दिनों से बारिश व तेज हवाओं से एकतरफ जहां धान का बिचडा डालने वाले किसानों को फायदा पहुंचा है। वहीं दूसरी ओर ग्रामीण इलाके में तेज हवा व आंधी से फसल को काफी नुकसान हुआ है। अमरपुर के किसान कमलेश, अमर, यशपाल ने बताया कि जिले के कई किसान के आय का साधन आम के बगीचे है। जहां कई किस्म के आम के फसल लगाये गये है। इस बार आम की फसल काफी अच्छी थी। तूफान ने किसानों के मनसुबे पर पानी फेर दिया है। बगीचे के लगभग 20 प्रतिशत आम के फल आंधी पानी के कारण गिर गये है। इधर मूंग व सब्जी का फसल खेत में पानी में डूब जाने से भी किसानों का क्षति हुई है। इधर कषि विज्ञान केन्द्र के मौसम वैज्ञानिक जुबुली साहु ने बताया कि यास तुफान के कारण मौसम तो सुहाना हो गया है। लेकिन तेज हवा व आंधी के कारण तैयार आम के फसल को खासा नुकसान पहुंचा हैं। काफी संख्या में आम के फल गिर गये है। वहीं लगातार अधिक वर्षा होने पर सब्जी सहित अन्य फसल को नुकसान पहुंच सकता है।

संबंधित खबरें