Measles-Rubella Prevention Tips - खसरा-रूबेला से बचाव के दिये टिप्स DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खसरा-रूबेला से बचाव के दिये टिप्स

चान्दन (बांका)| निज प्रतिनिधि

पीएचसी चान्दन के सभा कक्ष में खसरा—रूबेला (एमआर) टीकाकरण अभियान की सफलता को लेकर प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर एके सिन्हा की अध्यक्षता में बैठक आयोजित कर खसरा रूबेला जैसी गंभीर बीमारी से बच्चों के बचाव के टिप्स दिये। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉक्टर योगेन्द्र मंडल ने उपस्थित एएनएम आशा कार्यकर्ता को ड्यू लिस्ट के बारे में भी विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि

भारत ने विश्व स्वास्थ्य संगठन के दक्षिण पूर्व एशिया क्षेत्र के सदस्य देशों के साथ वर्ष 2020 तक खसरा तथा रूबेला/वंशानुगत खसरा लक्षण (सीआरएस) को समाप्त करने का संकल्प व्यक्त किया है। इस दिशा में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने 9 महीने से 15 वर्ष से कम आयु वर्ग में पूरे देश में चरणबद्ध तरीके से खसरा एवं हल्खसरा टीकाकरण अभियान शुरू किया है। अभियान का लक्ष्य लगभग 41 करोड़ बच्चों को कवर करना है और यह पूरे विश्व में सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान बनने जा रहा है। अभियान के दौरान 9 महीने से 15 वर्ष के कम आयु के सभी बच्चों को खसरे और हल्खसरे से बचाने के लिए एक सूई लगाई जाती है। इस अभियान के बाद एमआर टीका नियमित टीकाकरण का हिस्सा हो जाएगा और यह अभी 9—12 महीने के 16—24 महीनों के बच्चों को दिए जा रहे खसरे के टीका का स्थान ले लेगा। अभियान का उद्देश्य समुदाय में खसरा और हल्खसरे की बीमारी से प्रतिरोध क्षमता बढ़ाना है ताकि बीमारी पर प्रहार किया जा सके। इस मौके पर सीडीपीओ वन्दना दास, महिला पर्यवेक्षिका कुमारी शर्मीला, रानी पिंकी, स्वास्थ्य प्रबंधक भरत भूषण चौधरी आदि मुख्य रूप से मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Measles-Rubella Prevention Tips