Giridhari s record of winning with the lowest vote and most votes - सबसे कम मत से एवं सबसे अधिक मत से जीतने का गिरिधारी ने बनाया रिकार्ड DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सबसे कम मत से एवं सबसे अधिक मत से जीतने का गिरिधारी ने बनाया रिकार्ड

गिरिधारी यादव ने 2004 के लोकसभा चुनाव में जहां सबसे कम मतों से जीतने का रिकार्ड अपने नाम किया था। वहीं 2019 के लोकसभा चुनाव में गिरिधारी यादव ने सबसे अधिक मतों से जीतने का रिकार्ड अपने नाम किया। उन्होंने 1995 में कटोरिया विधानसभा से जनता दल के टिकट पर चुनाव लड़कर जीत दर्ज कर अपने राजनीतिक सफर की शुरुआत की थी। तब से अब तक कभी विधायक बन कर तो कभी सांसद बनकर क्षेत्र के लोगों को समस्या से निजात दिलाने का काम किया। क्षेत्र की जनता के बीच इनकी लोकप्रियता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि 1999 के चुनाव में राजद सुप्रीमों लालू यादव से बगावत कर निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़े और करीब 10 हजार के अंतर से दिग्विजय सिंह से पराजित हुए। इस चुनाव में राजद प्रत्याशी शकुनी चौधरी तीसरे स्थान पर रहे। इतना ही नहीं जदयू के संस्थापक व कद्दावर राष्ट्रीय नेता दिग्विजय सिंह को 2004 के चुनाव में पराजित किया। वहीं 2019 के लोकसभा चुनाव में पुतुल कुमारी को गठबंधन के कारण भाजपा ने टिकट से वंचित कर दिया। पार्टी से टिकट नहीं मिलने पर वह निर्दलीय चुनाव लड़ गयीं। बावजूद जदयू प्रत्याशी के पक्ष में क्षेत्र की जनता ने अपार मत दिये। जबकि बांका लोकसभा क्षेत्र राजद का परंम्परागत गढ़ माना जाता है। ऐसे में गिरिधारी यादव को सभी जाति का वोट मिलना इनकी लोकप्रियता को दर्शाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Giridhari s record of winning with the lowest vote and most votes