DA Image
25 जनवरी, 2020|10:02|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बांका के रेलखंडों पर नए साल से दौड़ेगी इलेक्ट्रिक ट्रेन

default image

बांका जंक्शन मैदान में स्थापित होगी रेलवे की पावर ग्रिडटीआरडी ने रेल लाइनों का सर्वे कर ग्रिड के लिए चिह्नत की जमीन भागलपुर-मंदारहिल एवं भागलपुर-बांका रेलखंड होंगे इलेक्ट्रििफाक्शन

बांका। निज प्रतिनिधि

बांका जिले की रेलखंडों पर नए साल से इलेक्ट्रिक ट्रेन दौड़ेगी। इसकी जिममेदारी टेकनिकल रेवले डिपार्टमेंट को दी गई है। जिसके पहले फेज में रेलवे कंस्ट्रक्शन डिपार्टमेंट की टीम भागलपुर-मंदारहिल एवं भागलपुर-बांका रेलखंड के सर्वे का कार्य पूरा कर लिया है। यहां के रेलखंडों के इलेक्ट्रििफाक्शन करने के लिए टीआरडी की ओर से बांका जंक्शन मैदान में पावर ग्रिड स्थापित करने के लिए स्थान भी चिह्नत कर लिए गए हैं। यहां स्थापित होने वाले रेलवे के पावर ग्रिड में सीधे एनटीपीसी से विद्युत की सप्लाई की जाएगी। यहां पावर ग्रिड के जरिये जिले के दोनों रेलखंडों पर 24 घंटे बिजली की आपूर्ति की जाएगी। जिससे ट्रेनों के परिचालन में किसी भी तरह की कोई रुकावट व परेशानी नहीं हो सके। वहीं, रेलखंडों के इलेक्ट्रििफाक्शन के लिए रेलवे की ओर से निविदा प्रक्रिया पूरी की जा रही है। इन रेलखंडों के इलेक्ट्रििफाक्शन होने के बाद इंटरसीटी एवं कवि गुरु एक्सप्रेस ट्रेन सहित बांका-भागलपुर डीएमयू ट्रेन एवं मंदारहिल पैसेंजर ट्रेन भी डीजल इंजन की जगह इलेक्ट्रिक इंजन पर दौड़ेगी। इसके लिए ट्रेन की बोगियों के बीच इलेक्ट्रिक इंजन लगाए जाएंगे।126 किलोमीटर रेलखंड का होंगा इलेक्ट्रििफाक्शन बांका जिले के 126 किलोमीटर लंबे रेलखंड का इलेक्ट्रििफाक्शन किया जाएगा। इसमें भागलपुर-हंसडीहा रेलखंड के 73 किलोमीटर एवं भागलपुर- बांका रेलखंड के 53 किलोमीटर तक विद्युतिकरण किया जाएगा। इसमें पड़ने वाले कुछ रेलवे पुलों का पुनर्निर्माण भी होगा। जिसका खाका तैयार करने के लिए टीआरडी द्वारा प्राक्कलन तैयार किया जा रहा है। ऑपरेटिंग सिस्टम में बी-ग्रेड पर बांका जंक्शनरेलवे के मानक के मुताबिक बांका जंक्शन ऑपरेटिंग सिस्टम के पैमाने पर बी-ग्रेड की श्रेणी में है। जबकि व्यवसायिक मानक के मुताबिक इसका ग्रेड-सी है। लेकिन रेलखंडों के इलेक्ट्रििफाक्शन होने के साथ ही इन रेलखंडों पर मालवाहक ट्रेनों का भी परिचालन बढ़ेगा। जिससे आने वाले समय में बांका जिला व्यवसाय के क्षेत्र में भी विकसित हो सकेगा। 2020 तक सरकार ने तय किया है लक्ष्यसरकार की ओर से बिहार के सभी रेलखंडों पर 2020 तक इलेक्ट्रिक ट्रेनों का परिचालन किए जाने का लक्ष्य तय किया गया है। जिसके तहत रेल नेटवर्क से जुड़े राज्य के सभी रेलखंडों का इलेक्ट्रििफाक्शन किया जाएगा। इसमें मालदा डिविजन में पड़ने वाले बांका जिले के भागलपुर-मंदारहिल एवं भागलपुर-बांका रेलखंड भी शामिल हैं। कोट - बांका जिला के भागलपुर-मंदारहिल एवं भागलपुर-बांका रेलखंड पर 2020 तक इलेक्ट्रिीक इंजन के जरिये ट्रेनों का परिचालन होगा। इसमें पैसेंजर ट्रेन भी शामिल हैं। इन रेलखंडों का इलेक्ट्रििफाक्शन किया जाएगा। इसके लिए निविदा प्रक्रिया जारी है। वहीं, बांका जंक्शन मैदान में पावर ग्रिड की स्थापना की जाएगी। जहां थर्मल पावर से बिजली की सप्लाई होगी। जहां से जिले के सभी रेलखंडों पर 24 घंटे बिजली की आपूर्ति की जाएगी। पीके मिश्रा, डीआरएम, प्रभारी मालदा डिविजन

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Electric trains will run on Banka s rail blocks from the new year