ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार बांकाशंभूगंज में कोरोना संक्रमण से एक और महिला की मौत

शंभूगंज में कोरोना संक्रमण से एक और महिला की मौत

शंभूगंज (बांका)। एक संवाददाताशंभूगंज (बांका)। एक संवाददाता प्रखंड क्षेत्र के विभिन्न गांवों में कोरोना संक्रमण का कहर जारी है। संक्रमण से मौत...

शंभूगंज में कोरोना संक्रमण से एक और महिला की मौत
हिन्दुस्तान टीम,बांकाWed, 19 May 2021 04:52 AM
ऐप पर पढ़ें

शंभूगंज में कोरोना संक्रमण से एक और महिला की मौत

शंभूगंज (बांका)। एक संवाददाता

प्रखंड क्षेत्र के विभिन्न गांवों में कोरोना संक्रमण का कहर जारी है। संक्रमण से मौत की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ते जा रही है। इस क्रम में बीते सोमवार की शाम शंभूगंज बाजार के एक अधेड़ महिला की मौत हो गई। करीब चार दिन पूर्व सीएचसी में जांच करने पर महिला पॉजिटिव हुई थी। अचानक सांस फूलने की शिकायत पर पीड़ित महिला को परिजनों ने ओटो से सीएचसी लाया। जहां चिकित्सक ने महिला की नाजुक हालत देख बेहतर इलाज के लिए बाहर भेज दिया। जहां रास्ते में ही महिला ने दम तोड़ दिया। घटना की खबर सुनते ही बाजार में सनसनी फैल गई। इससे दो दिन पूर्व चटमाडीह गांव के एक युवक की मौत हो गई थी। कोरोना से अब तक एक दर्जन लोगों ने अपना घर - परिवार छोड़ इस दुनिया से नाता तोड़ दिया।

बिना मास्क के ही खरीदारी करते दिखे लोग

बाराहाट (बांका)। निज प्रतिनिधि

एक तरफ कोरोना का कहर जारी है। वहीं दूसरी ओर हाट बाजार करने आए लोग कोरोना गाइडलाइन की धज्जियां उड़ा रहे हैं। लोग बिना मास्क, शारीरिक दूरी का पालन किए विना खरीदारी कर रहे हैं। प्रशासन की लाख सख्ती के बावजूद भी कुछ लापरवाह लोग अपनी ओछी मानसिकता के कारण सरकार को सहयोग नहीं करते दिख रहे हैं। हालांकि नियमों का पाठ पढ़ाने के दौरान स्थानीय प्रशासन को खूब पसीना बहाना पड़ा है। फिर भी लापरवाहों की लापरवाही हर वक्त देखने को मिल रही है। सप्ताहिक हाट बाराहाट में भी मंगलवार को यही नजारा दिखा। हाट में लोग इस कदर एक दूसरे से सटे खड़े नजर आए मानो देशव्यापी कोरोना संक्रमण से वह पूरी तरह अनजान हों और तो और वह बिना मास्क के ही सामानों की खरीदारी में मशगूल दिखे। हालांकि प्रशासन द्वारा स्थलों पर दंडात्मक कार्रवाई शुरू कर दी गई।

फोटो नंबर-बाराहाट 22 भेडामोड़ मैदान में लगी भीड़

सुबह से दोपहर तक जमकर खरीदारी कर रहे लोग

शंभूगंज (बांका)। एक संवाददाता

लॉक डॉउन में दूसरे चरण के तीसरे दिन मंगलवार की सुबह से दोपहर तक ग्राहकों ने बाजार में जमकर खरीदारी किया। जहां अधिकांश जगहों पर दो गज की दूरी तो दूर कुछ लोग मास्क भी सही तरीके से नहीं लगाते। जबकि बढ़ते कोरोना संक्रमण को देख प्रशासन पहले से ज्यादा और सख्त हो गई है। अब यदि लॉक डाउन का उल्लंघन किया तो जुर्माना देने के साथ पुलिस की लाठी भी खानी पड़ सकती है। वहीं ग्रामीण क्षेत्र के साप्ताहिक हाट बाजार में कोरोना गाइड लाइन का अनुपालन कराने में पुलिस उदासीन रहती है।

चेक पोस्ट पर चलाया वाहन जांच

चान्दन (बांका)। निज प्रतिनिधि

डीएम सुहर्ष भगत के निर्देश पर चांदन थाना क्षेत्र के मुख्य मार्ग दर्दमारा चेक पोस्ट पर कोरोना संक्रमण के बढ़ते रफ्तार को देखते हुए डीटीओ अशोक कुमार एवं बीडीओ दुर्गा शंकर की उपस्थिति में वाहन जांच अभियान चलाया गया। बीडीओ ने बताया कि दूसरे प्रदेश से वापस घर लौट रहे 310 प्रवासी श्रमिकों का स्वास्थ्य विभाग की टीम ने कोविड जांच किया। जांच के बाद दो यात्री कोरोना पाजेटिव पाया गया है, दोनों को होम आइसोलेशन में रहने का निर्देश दिया गया। इस मौके पर सीओ प्रशांत शांडिल्य, थानाध्यक्ष रविशंकर कुमार, सुईया थानाध्यक्ष देवेंद्र कुमार राय एवं आनंदपुर ओपी अध्यक्ष जितेंद्र कुमार पुलिस जवान के साथ तैनात थे।

लापरवाही के कारण कई लोगों की गई जान

धोरैया(बांका)। संवाद सूत्र

धोरैया पजवारा स्टेट हाईवे के चलना मोड़ के समीप स्थित लक्ष्मनिया पुल आज भी खुले हादसे को आमंत्रण दे रहा है। जिसका मुख्य कारण स्टेट हाईवे पर स्थित पुल मोड़ पड़ने के साथ साथ काफी संकीर्ण व पथ निर्माण विभाग के द्वारा अभी तक कोई संकेत देने वाले सूचक का नहीं लगाया जाना है। जिससे स्टेट हाईवे पर रफ्तार से दौड़ने वाले वाहन इस पुल के आगोश में समा रहे हैं। ज्ञात हो की सोमवार की देर शाम काफी तेज रफ्तार से गुजर रहे बाइक सवार दो युवक इस संकीर्ण पुल के आगोश में समा गए। वहीं मंगलवार को भी इस पुल से गुजर रहे सवारी लदे ऑटो भी दुर्घटनाग्रस्त होते होते बची। गनीमत रही की ऑटो पुल से बाहर निकाल लिया गया। वही इस संकीर्ण पुल पर पथ निर्माण विभाग के द्वारा अविलंब संकेत के साथ साथ पुल के दोनों तरफ रेलिंग नही बनाया जाता है तो आए दिन इस पुल के आगोश में कितने वाहन व आमलोग समाते रहेंगे।

कोरोना से मृत व्यक्तियों के लिए मुआवजे की मांग

बांका। निज संवाददाता

कोरोना ने अपना भयानक रुप धारण कर लिया है। गांव में जांच कैंप के अभाव में मरीज मर रहे हैं। सरकार का दावा फेल है लोग इलाज के अभाव में दम तोड़ रहे हैं। इसी क्रम में चांदन गौरा निवासी उमेश यादव, शोभा देवी धनजोरवा एवं गोपाल मंडल कुरथिया की कोरोना संक्रमण के कारण मौत हो गयी। इनके मौत पर पूर्व सांसद जय प्रकाश नारायण यादव, बेलहर के पूर्व विधायक रामदेव यादव,जिला राष्ट्रीय जनता दल के जिलाध्यक्ष अर्जुन प्रसाद यादव सहित अन्य ने शोक व्यक्त किया है। साथ ही कहा कि ये तीनों राजद के सक्रिय कार्यकर्ता थे। इनकी मौत ऑक्सीजन व इलाज के अभाव में हो गयी। ऐसे में इनके आश्रितों को सरकार की ओर से चार-चार लाख रुपये की मुआवजा राशि दी जाए। वहीं शोभा देवी बेलहर के पूर्व विधायक की भतीजी थीं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें