DA Image
27 नवंबर, 2020|8:30|IST

अगली स्टोरी

गोदाम प्रबंधक पर गिरेगी गाज

default image

वरीय अधिकारी के स्पष्टीकरण का जवाब नहीं देना बगहा-1 प्रख्ंाड के सहायक गोदाम प्रभारी को काफी महंगा पडे़गा। इसको लेकर प्रशासनिक स्तर पर कार्रवाई की कवायद को प्रारंभ कर दी गई है। अंतिम मौका देते हुए स्मार पत्र भेजा गया है। यदि इसके बाद भी जवाब नहीं देती है तो विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

अपर अनुमंडल पदाधिकारी सरफराज नवाज ने बताया कि बीते 28 फरवरी को राज्य खाद्य निगम के गोदाम की जांच की गयी थी। जांच के दौरान गोदाम पर एक भी पंजी नहीं मिली। पंजी नहीं मिलने के मामले में सहायक गोदाम प्रबंधक लवली सैनी से पत्र प्राप्ति के दो दिनों के अंदर जवाब मांगा गया था। लेकिन, एजीएम के द्वारा अब तक अपना जवाब नहीं सौंपा गया है। जिससे उनकी लापरवाही स्पष्ट होती है। ऐसे में उनपर कार्रवाई की जाएगी। लेकिन, अंतिम मौका देते हुए स्मार पत्र भेजा गया है। अगर स्मार पत्र के बाद भी एजीएम के द्वारा जवाब नहीं दिया जाता है तो उनपर विभागीय कार्रवाई की जाएगी। एएसडीएम मो. नवाज ने बताया कि आपूर्ति की व्यवस्था को हरहाल में दुरुस्त किया जाएगा। इसको लेकर प्रशासनिक स्तर पर संबंधित अधिकारियों व कर्मियों को निर्देशित किया गया है कि वे अपने-अपने स्तर पर आपूर्ति व्यवस्था को ठीक रखने की दिशा में काम करें। अगर कहीं से भी गड़बड़ी की शिकायत मिलती है तो दोषियों को किसी भी हालत में छोड़ा नहीं जाएगा। गरीबों के राशन व केरोसिन पर गलत नजर रखने वालों को प्रशासनिक स्तर पर किसी भी हालत में नहीं छोड़ा जाएगा। एएसडीएम ने बताया कि आपूर्ति व्यवस्था को ठीक करने की दिशा में उनके द्वारा लगातार प्रयास किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि आपूर्ति व स्वास्थ्य पर उनकी नजर है। ताकि आम आदमी को किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े।

अस्पताल की व्यवस्था होगी अपडेट

सभी प्रखंड स्थित स्वास्थ्य केन्द्रों की व्यवस्था को अपडेट किया जाएगा। ताकि आम आदमी को इलाज कराने के दौरान किसी प्रकार की परेशानी का सामना न हो। अनुमंडलीय अस्पताल समेत सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रो में उपलब्ध संसाधनों को अपडेट करने का निर्देश दिया गया है। इसके साथ ही चिकित्सकों पर भी नकेल कसी जाएगी। खासकर उन चिकित्सकों पर जो सरकारी सेवा में होने के बाद भी निजी प्रेक्टिस को ज्यादा तरजीह देते हैं।