DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निपाह वायरस से बचाव को छात्रों को मिले टिप्स

प्रखंड के राजकीय उत्क्रमित मध्य विद्यालय खमिहा में निपाह वायरस के बचाव तथा लक्षण के बारे में छात्रों को विस्तृत जानकारी दी गयी।

प्रधानाध्यापक रामसागर शर्मा ने बच्चों को विस्तृत जानकारी देते हुये बताया कि निपाह वायरस का मरीज सर्व प्रथम 1998 में मलेशिया में मिला था। जो चमगादड़ के संपर्क में आने से हुआ था। निपाह वायरस से बचाव के लिये पेड़ से गिरे हुये फल न खायें, सुअर और चमगादड़ से दूर रहे,खजूर खाने से परहेज करें जानवरो के खाये हुये फल व सब्जियां खरीदने से परहेज करें।तथा निपाह वायरस के लक्षण की भी जानकारी देते हुये उन्होंने बताया कि इस वायरस के ग्रसित व्यक्ति को तेज बुखार, सिरदर्द, भटकाव, मेन्टल कन्फ्यूजन, थकान महसूस होता है तथा आदमी कोमा में चला जाता है।वही मौके पर शिक्षक रामजीत राम,मुस्लिम गद्दी ,रमेश कुमार गिरी,अलीएमाम, मोहम्द इस्तयाक आलम,मोहम्द अमीरुल्लाह, बेबी कुमारी,शकुन्तला खातून थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Tips for Rescue from Nipah Virus