DA Image
7 मार्च, 2021|3:02|IST

अगली स्टोरी

मटियरवा सरेह में दिखा बाघ, लोगों मे बढ़ी बेचैनी

default image

जंगल से बाहर के वन क्षेत्रों में भी अब जंगली जानवरों की चहलकदमी तेज हो गई है। इस दौरान बगहा वन क्षेत्र के चौतरवा थाना क्षेत्र के मटिअरवा सीतापार सरेह में नहर पर जंगली जानवर का पग मार्क मिलने से लोगों में दहशत फैल गया है। क्षेत्र के लोग उस पग मार्क को बाघ या तेंदुआ का होना बता रहे है। इसकी सूचना मिलने पर बगहा वनक्षेत्र के वन कर्मियों की टीम ने बाघ तथा तेंदुआ का पग मार्क होने की जानकारी मिलते ही उसकी जांच पड़ताल शुरू कर दी है। वन कर्मियों की टीम इस पग मार्क की जांच करने तथा जानवर की निगरानी करने के लिए स्थल पर पहुंच गए हैं। क्षेत्र के लोगों का कहना है की शुक्रवार की सुबह बगहा के चौतरवा थाना क्षेत्र के सीतापार मटिअरवा में गुजरी नहर बांध पर पहले बाघ ने हिरण को शिकार करने के लिए दौड़ा रहा था। लोगों ने उस बाघ और हिरण को कुछ दूरी से देखा। कई जगह पग मार्क का निशान मिले हैं। वन कर्मियों की टीम उस पगमार्क को कैद कर लिया है। उसकी जांच के लिए वरीय अधिकारियों को भेजा है। इस संबंध में लोगों के अनुसार, इस दियारा क्षेत्र तथा सरेह में बाघ व तेंदुआ का मोमेंट पहले से ही है। बाघ व तेंदुआ इस दियारा और सरेंहो में अधिवास बनाकर रहते हैं। यह इस संबंध में बगहा वन क्षेत्र अधिकारी मनोज कुमार ने बताया कि चौतरवा थाना के मटिअरवा सीतापार सरेह में जानवर का पग मार्ग मिलने की सूचना मिलते ही वनकर्मियों की टीम को भेजा गया है। जांच कराई जा रही है। पग मार्ग को जांच के लिए भेजा जा रहा है। जांच के बाद ही स्पष्ट होगा कि वह पग मार्र्क बाघ या तेंदुआ का है। या किसी अन्य जानवर का। क्षेत्राधिकारी ने बताया कि वन कर्मियों की टीम स्थल पर पहुंचकर इस मामले में गहन छानबीन कर रही है। मालूम हो कि गंडक दियारा के क्षेत्रों में भी वाल्मिकी टाइगर रिजर्व के जंगल से भटक कर कई बाघ और तेंदुआ अपने शिकार के पीछे लग कर दियारा क्षेत्र में डेरा डाल दिए हैं।और रह रह कर सुनसान मिलने पर वह सरेंहो की तरफ भी चहल कदमी करते रहते हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Tiger seen in Matierwa Surreh people get restless