DA Image
6 मार्च, 2021|2:14|IST

अगली स्टोरी

24 घंटे में जमा करें क्षति रिपोर्ट

default image

बेमौसम हुई बारिश ने किसानों की कमर तोडी दी है। बारिश से दलहन, गेहूं सहित आलू की फसलों को भारी क्षति हुई है। साथ हीं खेतों में बारिश का पानी लगने से गन्ना की आपूर्ति के साथ-साथ गन्ना की बावग भी प्रभावित हो रही है। जिससे किसानों को आर्थिक क्षति हुई है। बारिश से खेतों में जलजमाव की स्थिति उत्पन्न हो गई है। जिससे मसूर एवं गेहंू की पौधें खेतों में सुखने लगे है। किसानों की माने तो बेमौसम हुई इस बारिश से खेतों में जलजमाव की स्थिति उत्पन्न हो गई है।

जिससे मसूर, गेहूं ,आलू की फसलों को काफी नुकसान हुआ है। जलजमाव के कारण गेहंू व मसूर के पौधे पीले होने लगे है। जिसका असर इसके उत्पादन भी पडे़गा। साथ ही खेतों में पानी लगने से गन्ना फसल की बावग भी प्रभावित हो रही है। खेतों में पानी होने एवं खेतों की मिट्टी गिली होने के कारण गन्ना की बावग नहीं हो पा रहा है। जिससे किसानों की परेशानी बढ़ गई है। साथ ही खेतो ंमें जलजमाव के कारण तैयार गन्ना की फसल को मिलों को आपूर्ति करने में भी किसानों को परेशानी हो रही है। किसान मंच के उमेश गुप्ता व ईख कस्तकार संघ के छोटे श्रीवास्तव ने किसानों की क्षति की भरपाई की मांग को लेकर सरकार से उक्त सभी फसलों पर अनुदान देने

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Submit damage report in 24 hours