DA Image
16 जनवरी, 2021|5:06|IST

अगली स्टोरी

भारी बारिश से बौराई नदियां, बाढ़ का खतरा

भारी बारिश से बौराई नदियां, बाढ़ का खतरा

नेपाल व जिले में तीन दिनों से भारी बारिश हो रही है। गुरुवार को भी सुबह से ही जिले में भारी बारिश का सिलसिला जारी रहा। इससे गंडक, सिकरहना, पंडई समेत दर्जनभर नदियों में फिर से उफान आ गया है। गंडक बराज से गुरुवार को शाम चार बजे तक 3.84 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया। इससे वाल्मीकिनगर के एसएसबी कैंप, आसपास के आधा दर्जन गांव समेत वीटीआर में बाढ़ का पनी घुस गया। यहां एसडीआरएफ की टीम ने लोगों को निचले इलाकों से निकाल कर सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया।

बैरिया, नौतन समेत आधा दर्जन प्रखंडों के तटबंध के भीतर के गांवों में फिर से पानी घुस गया है। पानी का दबाव चंपारण तटबंध पर बढ़ने लगा है। जल निस्सरण प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता लाल बहादुर गुप्ता समेत अधिकारियों व कर्मियों की टीम तटबंध पर मुस्तैद है।

डीएम कुंदन कुमार ने अधिकारियों को किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया है। उन्होंने हर हाल में तटबंध व जान माल को कोई नुकसान नहीं पहुंचने देने का निर्देश अधिकारियों को दिया है। सिकरहना, मसान, हरबोड़ा, गांगुली, रामरेखा, पुंडई समेत दर्जनों पहाड़ी नदियों के जल स्तर में लगातार हो रही वृद्धि से आसपास बसे गांव के लोग एक बार फिर दहशत में आ गए हैं। जल निस्सरण प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता ने बताया कि नेपाल के पहाड़ी क्षेत्रों समेत जिले में हो रही लगातार बारिश हो रही है। इसको देखते हुए सभी सहायक अभियंता वह कनीय अभियंताओं को पहाड़ी नदियों के जल स्तर व तटबंध ऊपर पानी के दबाव पर पैनी नजर रखने का आदेश दिया गया है। इसकी लगातार मॉनिटरिंग हो रही है। विभाग पूरी तरह से मुस्तैद है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Rivers flooded by heavy rains flood threat