DA Image
28 नवंबर, 2020|12:35|IST

अगली स्टोरी

मवेशी का ईयर टैगिंग कराने से लोगों को लाभ

default image

अब सरकारी योजनाओं का लाभ सिर्फ वहीं पशुपालकों को मिलेगा,जिनके पशु का ईयर टैगिंग हुआ रहेगा।इस कि जानकारी प्रखंड पशुपालन पदाधिकारी सह नोडल पदाधिकारी डॉ पंकज कुमार ने दी है।

उन्होंने बताया कि जो पशुपालन पशु टैगिंग योजना की अनदेखी कर रहें हैं,भविष्य में उन्हें काफी महंगा पड़ेगा।राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत पूरे भारत में टैगिंग कार्य जारी है।उन्होंने बताया कि योगापट्टी प्रखंड के 10 पंचायतों में दस पशु टीका कर्मी को लगाया गया है।प्रखंड के 60 हजार लगभग पशुओं को ईयर टैगिंग करने का लक्ष्य निर्धारित है।अभी तक मात्र 5 हजार 575 पशुओं का ही टैगिंग हुआ है।उन्होंने बताया कि गाय भैंस व उसके छह माह उम्र के उपर के बच्चे के साथ साढ़ व भैसां का भी टैगिंग किया जाना है।इसके बाद फिर भेड़ बकरियों का भी किया जायेगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:People benefit from ear tagging of cattle