DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोक अदालत से आपसी भाईचारा होता है कायम

लोक अदालत में पक्षकारों को नि:शुल्क न्याय मिलता है। यह दोनों पक्षों के जीत का आधार स्तंभ है। उक्त बातें जिला जज अभिमन्यु लाल श्रीवास्तव ने कही।

वे मंगलवार को अपने सभागार में आगामी 13 जुलाई को आयोजित होने वाले लोक अदालत की सफलता को ले न्यायिक अधिकारियों की बैठक में बोल रहे थे। श्री श्रीवास्तव ने कहा कि लोक अदालत के माध्यम से पक्षकारों के वादों का निपटारा होने के साथ-साथ आपसी सामंजस्य एवं भाईचारा भी कायम होता है। जो लोक अदालत का मुख्य उद्देश्य है। उन्होंने बैठक में न्यायिक पदाधिकारियों को आयोजित होने वाली राष्ट्रीय लोक अदालत में अधिक से अधिक वादों का निपटारा किये जाने के लिए सार्थक प्रयास करने की बात कही।

जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव कुमार धीरेन्द्र राजाजी के इस लोक अदालत में विभिन्न बैंकों, बिजली, इंश्योरेंस, क्लेम, बीएसएनएल आदि वादों का अधिक से अधिक निपटारा किये जाने को ले संबंधित पदाधिकारियों को दिशा-निर्देश देने की बात कही। वहीं सचिव ने कहा कि वैसे सभी वादकारी जो इस लोक अदालत के माध्यम से अपने मामलों का निपटारा करना चाहते हैं उन्हें संबंधित विभाग के अधिकारियों को नोटिश करने का आदेश दे दिया गया है। ताकि अधिक से अधिक पक्षकार इस राष्ट्रीय लोक अदालत का लाभ प्राप्त कर सकें। इस मौके पर एडीजे दिग्विजय कुमार, पवन कुमार पाण्डेय, अरुण कुमार, सीजेएम जय राम प्रसाद, एसडीजेएम मनोरंजन झा, मुंसिफ पंकज पाण्डेय, प्रथम श्रेणी न्यायिक दण्डाधिकारी ब्रजेश कुमार, राजकपुर, उपेेन्द्र साहु, रुपा राज थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok Adalat is mutual brotherhood