DA Image
25 सितम्बर, 2020|4:09|IST

अगली स्टोरी

समूह व मजदूरों को मिले दस हजार लॉकडाउन भत्ता

default image

अखिल भारतीय प्रगतिशील महिला एसोसिएशन एपवा और स्वंय सहायता समूह संघर्ष समिति बैरिया ने बैरिया प्रखंड कार्यालय के सामने भगतसिंह खेल मैदान में प्रर्दशन किया ।

सोसल डिस्टेंसिंग का पालन करने हुए प्रर्दशन कर ज्ञापन दिया। उक्त अवशर पर एपवा नेता सुजीता देवी ने कह कि लॉकडाउन के दौरान सभी काम काज बंद हो गया है ।बाहर कमाने वाले घर पर बेरोजगार बैठे हैं। ऐसे में समूह, जीविका व अन्य प्राइवेट लिमिटेड बैंकों का कर्ज दे पाना मुश्किल है।लेकिन जीविका समूह, प्राइवेट लिमिटेड बैंकों व कुछ अन्य किस्म के कर्ज देने वाले रोज ब रोज महिलाओं को परेशान कर रहें हैं।माल मवेशियों को खोल ले रहे हैं। सुरेंद्र चौधरी ने कहा लॉकडाउन के दौर में सारे काम काज बंद है । इसलिए समूह और मनरेगा मजदूर को दस हजार लॉकडाउन भत्ता तथा गरीबों के बच्चों को ऑनलाईन पढ़ाई के लिए मुफ्त स्मार्ट फ़ोन दिया जाए। मंजू देवी ने कहा जबतक कर्ज माफी नहीं होता है तब तक लड़ाई जारी रहेगी। मौके पर इंदू देवी गौदावली देवी, मंजू देवी,सुभावती देवी,जमीला खातून आदि शामिल रहीं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Groups and workers get ten thousand lockdown allowance