DA Image
2 अक्तूबर, 2020|12:43|IST

अगली स्टोरी

सरपंच कहेंगे तो दर्ज होगी एफआईआर

सरपंच कहेंगे तो दर्ज होगी एफआईआर

सर तीन माह पहले हमलावरों ने मारपीट कर मुझे फंेक दिया। मेडिकल कॉलेज अस्पताल में इलाज के बाद फर्द बयान दर्ज कर नगर पुलिस ने नौतन थाने को भेज दिया। लेकिन आज तक कोई भी पदाधिकारी जांच करने नहीं आया। केस भी नहीं किया गया। उक्त बातें नौतन के बैरा परसौनी गांव से पहुंची खैरुल नेशा ने एसपी केजनता दरबार में सुनवाई कर रहे मुख्यालय डीएसपी आलोक कुमार से कही।

महिला ने बताया कि वह नौतन थाने पर गई तो थानाध्यक्ष ने कहा कि जो आपन बाप के भेज दिहे। मेरे पिता गए तो उनसे कहा गया कि सरपंच कहेंगे तो केस दर्ज होगा। मुख्यालय डीएसपी ने इस मामले को गम्भीरता से लेते हुए महिला को आश्वस्त किया कि पुलिस आपके साथ न्याय करेगी। इस मामले की जानकारी वे नौतन थानाध्यक्ष से लेंगे। इधर नौतन थानाध्यक्ष अनुज कुमार पाण्डेय ने फोन पर कहा कि फर्द बयान आता है तो केस होता ही है। देख लेते हैं कि क्या मामला है। महिला द्वारा लगाया गया आरोप गलत है। उन्होंने कहा कि वे किसी से भी अभद्र भाषा में बात नहीं करते है। महिला से तो दूर की बात है।

मामला यह है कि खैरुल नेशा के पति सेराजुल अंसारी लुधियाना में राज मिस्त्री का काम करते है। आठ जुलाई को खैरुल नेशा अपने घर में अबोध बच्चे के साथ थी। तभी गांव के कतिपय लोगों ने किसी विवाद को लेकर उसे मारपीट कर अधमरा कर दिया था। उसे मरा हुआ समझ लोगों ने छोड़ दिया था। परिजन उसे लेकर मेडिकल कॉलेज अस्पताल आए जहां उसका उपचार हुआ। और नगर पुलिस ने फर्दब्यान दर्ज किया था। पीड़िता का कहना है कि नगर पुलिस ने फर्दब्यान एफआईआर दर्ज करने के लिए भेज दिया था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:FIR will be filed if sarpanch says