DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  बगहा  ›  शिक्षकों के बिना ही मैट्रिक पास करते हैं बच्चे

बगहाशिक्षकों के बिना ही मैट्रिक पास करते हैं बच्चे

हिन्दुस्तान टीम,बगहाPublished By: Newswrap
Thu, 06 Feb 2020 05:58 PM
शिक्षकों के बिना ही मैट्रिक पास करते हैं बच्चे

प्रखंड के उत्क्रमित माध्यमिक विद्यालय हौदा डूमरा व डरौल स्कूल वर्ष 2014 से ही बिना शिक्षकों के संचालित हो रहा है। यहां प्रतिवर्ष बच्चे फॉर्म भरते हैं तथा मैट्रिक का परीक्षा देकर उतीर्ण भी हो जाते हंै। बच्चे मैट्रिक का फॉर्म भरकर अपने घर रहकर ही अध्ययन करते हैं। मेहनौल मुखिया मोतीलाल पासवान व डरौल मुखिया सीमा खातून का कहना है कि गौनाहा प्रखण्ड में शिक्षा के मौलिक अधिकारों की खुलेआम धज्जियां उड़ रही हैं। सरकार बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है। उन्होंने बताया कि हौदा डूमरा मध्य विद्यालय में सहायक शिक्षक के पद पर कार्यरत शिक्षक जगदीश कुमार पर हाईस्कूल का भी कामकाज है। उन्होंने बताया कि उक्त मध्य विद्यालय में 1 से 8 वर्ग तक में बच्चों की संख्या 400 से अधिक है। विद्यालय में कुल 6 शिक्षक कार्यरत हंै। ऐसी ही स्थिति डरौल हाईस्कूल की भी है। उक्त स्कूल में भी वर्ष 2014 से एक भी शिक्षक हाईस्कूल में पदस्थापित नहीं हुआ है। उधर, तुरकौलिया व सेमरी डुमरी हाईस्कूल में मात्र एक एक शिक्षक पदस्थापित हैं। इस वर्ष भी हौदा डुमरा स्कूल से 102 तथा डरौल हाईस्कूल से 54 बच्चे मैट्रिक की परीक्षा आगामी 17 फरवरी से देंगे।

इस बावत पूछने पर बीडीओ हरिमोहन कुमार ने बताया कि उक्त दोनों विद्यालयों में शिक्षकों की बहाली हेतु शिक्षा विभाग को पत्र भेजा जाएगा। जिसके बाद नई बहाली होने पर शिक्षकों की रिक्तियां समाप्त होने की आशा है।

संबंधित खबरें