DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

देश की आजादी के लिए भगत सिंह ने दी शहादत

देश की आजादी के लिए भगत सिंह ने दी शहादत

शहीदे ऐ आजम भगत सिंह साम्राज्यवाद और संप्रदायिकता के प्रखर विरोधी थे। देश की आजादी के लिए उन्होंने शहादत दी उक्त बातें ऑल इंडिया स्टूडेंट एसोसिएशन के पूर्व छात्र नेता सुनील कुमार राव ने शनिवार को भगत सिंह के शहादत दिवस के अवसर पर कही। ऑल इंडिया स्टूडेंट एसोसिएशन और इंकलावी नौजवान सभा ने शहीदे ऐ आजम भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव के शहादत दिवस पर महाराजा पुस्तकालय से संकल्प मार्च निकाला। इसके अलावा तीन लालटेन चौक पर भगत सिंह की मूर्ति पर माल्यार्पण कर सभा का आयोजन किया किया।

पूर्व छात्र नेता सुनील राव ने कहा कि समाज के बौद्धिक ताकतें जब सरकारी आडंबर और पाखंड का विरोध करती है तो उनकी हत्या किया जाता है। मौके पर अंशुल कौसिक, सोनी कुमारी, धनंजय राय, किशन श्रीवास्तव, इंकलाब नौजवान सभा के जिला संयोजक सुरेंद्र कुमार चौधरी, मुजम्मिल हुसैन, विनोद कुशवाहा, प्रेमचंद शाह, सुजीत मुखर्जी ने संबोधित किया

शहादत दिवस पर सर्वधर्म प्रार्थना सभा का आयोजन : सत्याग्रह रिसर्च फाउंडेशन द्वारा शहीद-ए-आजम सरदार भगत सिंह, राजगुरु ,सुखदेव की शहादत दिवस पर शनिवार को तीन लालटेन स्थित प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किया गया। पीस एंबेसडर सह सचिव सत्याग्रह रिसर्च फाउंडेशन डॉ.एजाज अहमद ने कहा कि आज ही के दिन आज से 88 वर्ष पूर्व 23 मार्च 1931 को लाहौर सेंट्रल जेल में भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव को फांसी के फंदे पर लटका दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bhagat Singh gifted martyrdom for the country s independence