DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उत्तर बिहार में बाढ़ के दौरान हादसों में 24 की मौत

उत्तर बिहार के अलग-अलग जिलोंे में बाढ़ में डूबने और सांप काटने से अब तक 24 लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें से अधिकतर मौत डूबने के कारण हुई। सबसे अधिक पश्चिमी चंपारण में बाढ़ से अब तक 13 लोगों की मौत हो चुकी है। पश्चिम चंपारण जिले के नरकटियागंज में सोमवार सुबह चीनी मिल के समीप डूबने से चुलबुल दीक्षित (16) की मौत हो गयी है। वह शिकारपुर थाने के चेगौना निवासी गुड्डू दीक्षित का पुत्र था। वहीं साठी स्टेशन के आउटर सिग्नल के आगे रेलवे ट्रैक पार कर रहे 7-8 लोगों में सहोदरा थाने के जमुनिया निवासी 13-14 वर्ष का लड़का टूटे ट्रैक से नीचे गिर कर बह गया। सोमवार को उसका शव मिला। सिकटा में भी सांप काटने से एक की मौत हो गयी। इधर, तारा बसवरिया में रविवार को बहे ग्रामीण फरमान देवान के पुत्र हबीब देवान (5) का शव ग्रामीणों ने खोज निकाला। गांव के आठ लोग पानी में बह गए थे। इनमें से पांच के शव मिल चुके हैं। प्रशासनिक अधिकारियों ने 13 लोगों की मौत की पुष्टि की है। पूर्वी चम्पारण जिले के पताही के नारायणपुर गांव में चंदेश्वर पासवान के पुत्र सतीश पासवान की मौत बाढ़ में घर गिरने से दबकर हो गयी। ढाका के जमुआ निवासी हसीन अख्तर का 17 वर्षीय पुत्र मो. मजीर व फेनहारा के गोविंदबारा का रवि कुमार सोनी (18) बाढ़ के पानी में बहने से लापता है। मधुबनी जिले डूबने से छह लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें पांच की मौत सोमवार को व एक की मौत रविवार को हुई। अंधराठाढी के गंगद्वार गांव में लक्ष्मेश्वर पासवान (75), बाबूबरही के गोट बरही में सुनीता देवी (45), बेनीपट्टी के माधोपुर गांव में अंकुर ठाकुर (16), बिस्फी के धजवा गांव में राहुल कुमार (12), लौकही के धरहारा गांव में रेखा कुमारी (16) व मधेपुर के सुनरी गांव में वहिसा खातून (14) वर्ष की मौत डूबने से हो गयी। इधर, लदनियंा के दोनवारी निवासी प्रहलाद यादव (12) की सांप काटने से मौत हुई। सीतामढ़ी जिले के परिहार थाना क्षेत्र के लक्ष्मीपुर गांव निवासी लालबाबू सहनी (40) व शिवहर जिले के शिवहर थाने के गड़हिया गांव में एक बच्चे की मौत हो गयी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:24 dead in floods in north Bihar