DA Image
Monday, November 29, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार औरंगाबाद उत्तर कोयल नहर में आने लगा पानी

उत्तर कोयल नहर में आने लगा पानी

हिन्दुस्तान टीम,औरंगाबादNewswrap
Tue, 06 Jul 2021 08:00 PM
 उत्तर कोयल नहर में आने लगा पानी

उत्तर कोयल नहर में पानी की आपूर्ति शुरू हो गई है। इससे किसानों को सुविधा हुई है। देव प्रखंड अंतर्गत आरडी 211 के आगे तक पानी पहुंचने लगा है जिससे बिचड़ा करने में किसानों को सहूलियत होगी। उत्तर कोयल नहर संघर्ष समिति ने पानी पहुंचाने पर सिंचाई विभाग के अधिकारियों का आभार जताया है। संघर्ष समिति के संयोजक मनोज कुमार सिंह ने बताया कि उत्तर कोयल नहर प्रमंडल के चीफ इंजीनियर शमीम अख्तर मल्लिक से बातचीत की गई थी। उन्होंने जानकारी दी है कि पानी नहर में निर्बाध रूप से जारी है। झारखंड राज्य अंतर्गत उत्तर कोयल नहर का कुछ काम चल रहा था लेकिन किसानों की समस्या को देखते हुए काम को बंद कर पानी की आपूर्ति की गई है। उन्होंने कहा कि प्रयास किया जाएगा कि किसानों को पानी मिलता रहे। संयोजक मनोज कुमार सिंह ने बताया कि वर्तमान में किसानों को पानी की सख्त जरूरत थी। पूर्व में नहर में काम धीमी गति से चल रहा था जिसको लेकर समिति ने अधिकारियों से वार्ता की थी तथा नहर का निरीक्षण किया था। इसके बाद अधिकारियों से कहा गया था कि वे जल्द से जल्द निर्माण कार्य को पूर्ण करें और पानी उपलब्ध कराएं जिसके आलोक में पानी की उपलब्धता हो गई है।

अधिकारी विहीन हो गया उत्तर कोयल नहर प्रमंडल----------------------------------

किसानों को जब खेत में पानी की जरूरत और उत्तर कोयल नहर प्रमंडल अंतर्गत निगरानी की सख्त आवश्यकता होगी, तब अधिकारी गायब हो गए हैं। सरकार ने अधिकारियों का यहां से तबादला कर दिया है और गिनती के लोग भी यहां नहीं हैं। चीफ इंजीनियर के भरोसे यह पूरा सिंचाई प्रमंडल संचालित होगा। कार्यपालक अभियंता का तबादला हो गया है। उनकी जगह अब बटाने सिंचाई परियोजना के कार्यपालक अभियंता देवराज रजक को चार्ज दिया गया है। एक भी सहायक अभियंता अब यहां नहीं है। आरडी नंबर 186 से 304 तक मात्र एक कनीय अभियंता उपलब्ध हैं। एक कनीय अभियंता इसके लिए दिया गया है। सहायक अभियंता रहे अभिषेक कुमार और संजय कुमार का तबादला पूर्व में ही कर दिया गया था। नवीनगर और अंबा प्रमंडल में भी अधिकारी नहीं हैं। यहां भी काम कैसे होगा, यह समस्या खड़ी हो गई है। चीफ इंजीनियर ने भी तबादले की बात स्वीकार की है और कहा कि अधिकारियों की कमी है लेकिन प्रयास किया जाएगा कि किसानों को दिक्कत ना हो।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें