DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  औरंगाबाद  ›  जलजमाव ! कहीं सीवर जाम तो कहीं सीवर ही नहीं
औरंगाबाद

जलजमाव ! कहीं सीवर जाम तो कहीं सीवर ही नहीं

हिन्दुस्तान टीम,औरंगाबादPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 08:20 PM
 जलजमाव ! कहीं सीवर जाम तो कहीं सीवर ही नहीं

पिछले कई दिनों से लगातार बारिश हो रही है। अंबा बाजार के कई मुहल्लों के लोग जलजमाव से परेशान हैं। इसके पीछे बड़ी वजह यह है कि कहीं सीवर जाम है तो कहीं सीवर बना ही नहीं है। मुहल्ले की नालियां कहीं ऊंची बनी है तो कहीं नाली के पानी के निकास की जगह ही नहीं है। कई नालियां कूड़े-कचरे से जाम है। ऐसी स्थिति में परेशानी होना लाजमी है। बाजार के हरिहरगंज रोड में सड़क के पूरब की ओर की सीवर पूरी तरह जाम है। सीवर की सफाई की कोई व्यवस्था नहीं है। लोगों ने अपने-अपने घरों के सामने मोरंग-छाई आदि भरकर अपना दरवाजा ठीक रखने के चक्कर में सीवर के छेद को बंद कर दिया है। सड़क का बरसाती पानी निकलने की जगह नहीं है। परिणाम होता है कि सड़क के किनारे के भाग में जलजमाव बना होता है और लोगों को दुकान-मकान में जाने में दिक्कत होती है। कई जगह लोगों ने इस सीवर को भरकर रास्ता बना दिया है। इधर नवीनगर रोड में सड़क के दक्षिण सीवर बना ही नहीं है। ऐसी स्थिति में दक्षिण की ओर के आवासीय परिसरों के पानी का कोई निकास नहीं है। मदरसा के समीप भारी जलजमाव बना रहता है। गंदा पानी लोगों के घरों में घुसता है। ग्रामीणों ने सीवर बनाने की मांग भी की है। बाजार के वार्ड संख्या पांच की नाली सड़क से ऊंची है। सड़क का पानी नाली में जाता ही नहीं है। परिणामस्वरूप जलजमाव बना रहता है

बनी नालियों की सफाई न होने से है परेशानी

बाजार के कई सड़कों में सीवर का निर्माण कराया गया है। मुहल्लों में भी नालियां बनी है पर सीवर और नाली की सफाई की कोई व्यवस्था नहीं है। न तो इसपर प्रतिनिधियों का ध्यान है और न ही प्रशासन का। नाली के रखरखाव को लेकर आम लोग भी कम दोषी नहीं है। जिस नाली से लोगों के घरों का पानी निकलना होता है उस नाली के रखरखाव पर भी उनका ध्यान नहीं रहता है। ऐसे में समस्या उत्पन्न होना लाजमी है।

कोट

चंद्रभूषण गुप्ता, बीडीओ

बाजार पर जलजमाव वाले जगहों का स्थल निरीक्षण कराया जाएगा। यह जानकारी लेने की कोशिश की जाएगी कि किस वजह से पानी की निकासी नहीं हो रही है और उसके समाधान का समुचित प्रयास किया जाएगा।

कुटुंबा में हुई 29.4 एमएम बारिश

अंबा। संवाद सूत्र।

पिछले 24 घंटों में कुटुंबा प्रखंड में 29.4 एमएम बारिश हुई है। यह बारिश बुधवार की सुबह 9 बजे से गुरुवार की सुबह 9बजे तक का है। इस आशय की जानकारी संख्यिकी विभाग से मिली है। उन्होंने बताया कि औरंगाबाद प्रखंड में 20.6 एमएम, बारुण प्रखंड में 46.4 एमएम, दाउदनगर प्रखंड में 56.4 एमएम, देव प्रखंड में 28.6 एमएम, गोह प्रखंड में 76.8 एमएम, हसपुरा प्रखंड में 79.2 एमएम, मदनपुर प्रखंड में 20.4 एमएम, नवीनगर प्रखंड में 17.4 एमएम, ओबरा प्रखंड में 34.4 एमएम तथा रफीगंज प्रखंड में 28.8 एमएम बारिश हुई है।

पिपरा में स्थापित कराई बजरंगबली की 15 फीट ऊंची प्रतिमा

प्रतिमा की स्थापना को लेकर प्राण प्रतिष्ठा यज्ञ का आयोजन

धूमधाम से निकली जलभरी

अंबा। संवाद सूत्र।

कुटुंबा प्रखंड के पिपरा गांव में बजरंग बली की 15 फीट ऊंची प्रतिमा स्थापित कराई जा रही है। यह प्रतिमा राजस्थान के मकराना से मंगाई गई है। प्रतिमा की स्थापना को लेकर गांव में प्राण-प्रतिष्ठा यज्ञ का आयोजन हो रहा है। गुरुवार को बाजे-गाजे के साथ यज्ञ की जलभरी निकली और बतरे नदी पहुंची। वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ जलभरी कर भक्त वापस लौटे। आयोजन समिति के सदस्य विनोद कुमार सिंह, अरविंद सिंह, राहुल प्रकाश, विवेक कुमार सोहन, भीम सिंह आदि ने बताया कि यह आयोजन चार दिवसीय है। तीन दिनों तक अखंड, कीर्तन और प्रवचन होगा। 20 जून को भंडारे के साथ कार्यक्रम का समापन होगा। इस आयोजन को लेकर भक्तों में उत्साह है। आसपास के लोग भी इस आयोजन में शामिल हो रहे हैं। इस मौके पर प्रो. सुनील कुमार सिंह, पंकज कुमार, पप्पू कुमार, नीरज कुमार समेत बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।

बड़ी दुर्घटना को दावत दे रहा माली पथ

पथ पर उभर आए हैं खतरनाक गड्ढे, वाहनों का परिचालन मुश्किल

अंबा। संवाद सूत्र।

माली पथ में इस कदर खतरनाक गड्ढे उभर आए हैं कि वाहनों का परिचालन हो मुश्किल गया है। इसकी मरम्मत जरूरी है अन्यथा कब कौन सा वाहन पलटेगा, कहना मुश्किल है। आए दिन इस पथ पर दुपहिया वाहन चालक दुर्घटनाग्रस्त होते हैं। गड्ढों में पानी भरा होता है। चालकों को पता ही नहीं चलता कि वाहन कैसे पार करें। वाहनों के लिए उन्हें सड़क पर रास्ता तलाशने की जरूरत पड़ती है। दाहिने-बाएं कर किसी तरह वे वाहन पार करते हैं। इस पथ पर साइकिल और बाइक का परिचालन भी मुश्किल है। यह पथ संडा से कुटुंबा बिचला मोड़ हुए माली जाती है। दर्जनों गांव के लोग इसी रास्ते प्रखंड मुख्यालय पहुंचते हैं। ग्रामीण ग्रामीण रवि पांडेय ,अजीत कुमार, रंजय कुमार, अंकित सिंह, किटू कुमार, गोलू कुमार, रवि कुमार, चिंटू कुमार, मनीष कुमार आदि ने प्रशासन का ध्यान इस ओर आकृष्ट कराते हुए पथ की मरम्मत की मांग की है। उन्होंने कहा है कि यदि समय रहते पथ की मरम्मत नहीं कराई गई तो यह किसी बड़ी दुर्घटना का गवाह बन सकता है।

संबंधित खबरें