ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार औरंगाबादनाबालिग बच्ची का अपहरण कर दुष्कर्म करने के मामले में सात साल कैद, अपडेट

नाबालिग बच्ची का अपहरण कर दुष्कर्म करने के मामले में सात साल कैद, अपडेट

पॉक्सो कोर्ट ने सुनाया फैसला, बारुण थाना क्षेत्र से एक नाबालिग बच्ची के अपहरण के मामले में फैसला न न नन न नन न न न न न न...

नाबालिग बच्ची का अपहरण कर दुष्कर्म करने के मामले में सात साल कैद, अपडेट
हिन्दुस्तान टीम,औरंगाबादWed, 12 Jun 2024 08:45 PM
ऐप पर पढ़ें

औरंगाबाद जिले के बारुण थाना क्षेत्र से एक नाबालिग बच्ची का अपहरण कर दुष्कर्म करने के मामले में अदालत ने बुधवार को सजा सुनाई। अभियुक्त बारुण थाना क्षेत्र के डिगर बिगहा निवासी रामाशीष यादव के पुत्र मुन्ना यादव को भादंवि धारा 376 और 4 पॉक्सो एक्ट में सात साल कैद की सजा सुनाई गई। इसके अलावा एक हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया। जुर्माना की राशि नहीं जमा करने पर तीन महीने की अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी। स्पेशल पीपी शिवलाल मेहता ने बताया कि 29 दिसंबर 2012 को पीड़ित बच्ची के पिता ने बारुण थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई थी। प्राथमिकी में कहा गया था कि उनकी पुत्री 16 साल 6 महीना की है। 29 दिसंबर 2012 को वह सुबह में अचानक गायब हो गई। उनकी पुत्री किशोरी सिन्हा महिला कॉलेज में इंटर में पढ़ाई कर रही थी। 29 दिसंबर को घर से निकली और उसके बाद से उसका कोई पता नहीं चला। खोजबीन के क्रम में जानकारी हुई कि मुन्ना यादव शादी करने की नीयत से बहला फुसला कर ले गया है और कहीं छुपा कर रखा है। पॉक्सो कोर्ट ने अभियुक्त मुन्ना यादव को भादवि धारा 376 और चार पॉक्सो एक्ट में सात साल कैद की सजा सुनाई। इसके अलावा एक हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया। पीड़िता को जिला विधिक सेवा प्राधिकार के स्तर से दो लाख रुपये का मुआवजा दिलाने का आदेश भी दिया गया। स्पेशल पीपी ने बताया कि शुक्रवार को उक्त दोनों धाराओं में मुन्ना यादव को दोषी करार दिया गया था। इसके आलोक में उसे सजा सुनाई गई और जेल भेज दिया गया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।