ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार औरंगाबादआर्द्रा मेले के लिए सज-धजकर तैयार है सतबहिनी मंदिर, उद्घाटन आज

आर्द्रा मेले के लिए सज-धजकर तैयार है सतबहिनी मंदिर, उद्घाटन आज

पूरे नक्षत्र लगा रहता है यह मेला, मेले में उमड़ती है भक्तों की भारी भीड़ लेकर सतबहिनी मंदिर सज-धजकर तैयार है। शनिवार की शाम इसका उद्घाटन होना है। एसडीओ के द्वारा मेला का उद्घाटन किया जाएगा वहीं प्रखंड...

आर्द्रा मेले के लिए सज-धजकर तैयार है सतबहिनी मंदिर, उद्घाटन आज
हिन्दुस्तान टीम,औरंगाबादFri, 21 Jun 2024 09:45 PM
ऐप पर पढ़ें

अंबा के सतबहिनी मंदिर के समीप आर्द्रा नक्षत्र में लगने वाले मेले को लेकर सतबहिनी मंदिर सज-धजकर तैयार है। शनिवार की शाम इसका उद्घाटन होना है। एसडीओ के द्वारा मेला का उद्घाटन किया जाएगा वहीं प्रखंड स्तरीय अधिकारी व प्रतिनिधि बतौर अतिथि शामिल होंगे। उद्घाटन के साथ ही मेले की गतिविधियां शुरू हो जाएंगी। मेले को लेकर एक और जहां मंदिर परिसर को खूबसूरत तरीके से सजाया गया है वहीं दूसरी ओर मेला परिसर में खेल-तमाशे सज गए हैं। चरखी, झूले, जादूघर, सर्कस, मीना बाजार आदि गतिविधियों से मेला परिसर पटा पड़ा है। अनगिनत अस्थाई दुकानें भी यहां सजी हैं। मेले की विधि-व्यवस्था को लेकर सतबहिनी मंदिर न्यास समिति सक्रिय है। मेले को लेकर समिति की कई बैठक आयोजित हुई हैं और विधि-व्यवस्था समेत भक्तों की अन्य सुविधाएं पर गहन चर्चा की गई है। न्यास समिति के सचिव सिद्धेश्वर विद्यार्थी ने बताया कि यहां आने वाले भक्तों को सुरक्षा समेत चिकित्सा, पेयजल आदि की सुविधा उपलब्ध होगी। भक्तों को किसी तरह की परेशानी न हो इस बात का ध्यान रखा जाएगा। इसके लिए समिति की ओर से स्वयंसेवक तैयार किए गए हैं। उन्होंने बताया कि मेले में भक्तों की भारी भीड़ जमा होती है। ऐसे में उन्होंने महिला भक्तों से आग्रह किया है कि मेला व मंदिर परिसर में आभूषण पहनकर न आएं। उचक्के भीड़ का फायदा उठाकर आभूषण गायब कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि मंदिर समेत पूरे मेले की निगरानी सीसीटीवी कैमरे से की जाएगी। प्रशासन की ओर से यहां पुलिस बल की तैनाती रहेगी।

----------------------------------------------------------------------------------------------

सड़क जाम और जुआ रोकना पुलिस की चुनौती

सतबहिनी मंदिर एनएच किनारे अवस्थित है। ऐसे में यहां लगने वाले आर्द्रा मेले में लोगों की भारी भीड़ होती है और पूरा सड़क भक्तों से पटा होता है। ऐसे में सड़क जाम की भारी समस्या उत्पन्न होती है। इस जाम से लोगों को निजात दिलाना पुलिस प्रशासन की बड़ी चुनौती है। इसके अलावा मेले में जुए का भी खेल होता है जिसके शिकार अबोध बच्चे होते हैं। प्रशासन के चेतावनी के बाद यह खेल रुकता नहीं है। ऐसे में जुए को रोकना भी पुलिस की बड़ी चुनौती है।

----------------------------------------------------------------------------------------------

चेन स्नेचरों से महिला भक्तों को खुद बचाना होगा

मेले में भीड़ का फायदा चेन स्नेचर उठाते हैं और महिला भक्तों के आभूषण उड़ा लेते हैं। हालांकि इस पर रोक के लिए पुलिस प्रशासन और न्यास समिति दोनों सक्रिय रहती है पर इस पर अंकुश नहीं लग पाता है। ऐसी स्थिति में महिला भक्तों को इसका खुद ख्याल रखना होगा कि आभूषण पहनकर मेले में न आए। न्यास समिति ने भी यह अपील की है। हालांकि मां के दर्शनार्थी सीसीटीवी कैमरे की नजर में होंगे फिर भी स्नेचर हाथ साफ करने से बाज नहीं आते हैं।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।