DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › औरंगाबाद › दशहरा पर्व पर मौसमी कर्मियों को वेतन ना मिलने से रोष
औरंगाबाद

दशहरा पर्व पर मौसमी कर्मियों को वेतन ना मिलने से रोष

हिन्दुस्तान टीम,औरंगाबादPublished By: Newswrap
Mon, 11 Oct 2021 08:20 PM
दशहरा पर्व पर मौसमी कर्मियों को वेतन ना मिलने से रोष

दाउदनगर सिंचाई विभाग कार्यालय में कार्यरत मौसमी कर्मियों को दशहरा पर्व पर वेतन न मिलने से परेशानी है। उनका कहना है कि उन्हें मात्र 304 रुपये प्रतिदिन दैनिक वेतन मिलता है। वह भी समय पर नहीं मिलता है जिसके कारण उन्हें काफी कठिनाई आती है। पर्व पर बच्चों के कपड़े खरीदने हों या शिक्षा के लिए किताब, कॉपी लेनी हो सभी मुश्किल से कर पाते हैं। कई कर्मी जो दाउदनगर में किराए पर कमरा लेकर रहते हैं वह भूखमरी प्रकार के कगार पर हैं। दशहरा पर्व पर सभी को आशा थी कि उन्हें वेतन मिलेगा लेकिन दशहरा पर्व बिना वेतन के ही गुजर जाएगा। विगत पांच माह से उन्हें वेतन नहीं मिला है जिसके कारण वे भुखमरी के कगार पर आ गए हैं। कुछ मौसमी कर्मियों को 15- 16 दिन का वेतन मिला है जो बहुत कम है। पूछने पर उनके साथ दुर्व्यवहार भी किया जाता है। पदाधिकारी उनसे डेरा पर भी काम लेते हैं जो अपमानजनक स्थिति है। कुछ लोगों को जून माह का वेतन मिला भी तो स्थानीय पदाधिकारियों ने उनसे पांच हजार रूपया वापस मांग लिया। जो मौसमी कर्मी राशि वापस करने से इंकार किए तो उनके साथ गाली-गलौज और दुर्व्यवहार भी किया गया। इसकी शिकायत एक माह पूर्व जिला पदाधिकारी, औरंगाबाद एवं वरीय पदाधिकारियों से की गई है। मासिक कर्मियों ने बताया कि उनसे सादे कागज पर हस्ताक्षर बनवा लिया जाता है और फिर उसका मनमाने ढंग से इस्तेमाल किया जाता है। बैठक में इस मुद्दे पर रोष प्रकट करते सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि कोई भी कर्मी अब सादे कागज पर हस्ताक्षर नहीं बनाएगा। प्रमंडलीय अध्यक्ष रवींद्र कुमार, संचालन सचिव अरविंद कुमार ने किया। इस अवसर पर प्रमंडलीय उपाध्याय जयप्रकाश राम, नगर सचिव मृत्युंजय कुमार, संयुक्त सचिव जयराम सिंह तथा महासंघ के जिला सचिव सत्येंद्र कुमार उपस्थित रहे।

संबंधित खबरें