DA Image
Sunday, December 5, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार औरंगाबाद15 नवंबर से आंगनबाड़ी केंद्र खुलेंगे, गूंजेंगी बच्चों की किलकारी

15 नवंबर से आंगनबाड़ी केंद्र खुलेंगे, गूंजेंगी बच्चों की किलकारी

हिन्दुस्तान टीम,औरंगाबादNewswrap
Wed, 27 Oct 2021 10:50 PM
15 नवंबर से आंगनबाड़ी केंद्र खुलेंगे, गूंजेंगी बच्चों की किलकारी

कोरोना वायरस की चुनौतियों के बीच बच्चों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने के लिए आंगनबाड़ी केंद्रों को पुन: खोल दिया जाएगा। विदित हो कि आंगनबाड़ी केंद्रों को लंबे समय तक बंद कर दिया गया था लेकिन अब वहां पहले की तरह बच्चों की किलकारी गूंजेंगी। आईसीडीएस के निदेशक ने जिला कार्यक्रम पदाधिकारी एवं सीडीपीओ को आगामी माह के 15 नवंबर से पूर्व की भांति सभी गतिविधियों के संचालन प्रारंभ करने का निर्देश दिए हैं। आंगनबाड़ी केंद्रों का संचालन 31 मार्च तक चलेगा। सुबह दस बजे से दोपहर 2 बजे तक आंगनबाड़ी खोले जाएंगे। समेकित बाल विकास निदेशालय बिहार के निदेशक ने निर्देश दिया है कि सभी आंगनाबाड़ी केंद्रों को समय पर संचालित किया जाए। बंद आंगनबाड़ी केंद्रों को खोलने के लिए मार्गदर्शिका भी जारी किया गया है। मार्गदर्शिका के अनुसार किसी भी आंगनबाड़ी केंद्र पर कुंल क्षमता की 50 प्रतिशत से अधिक उपस्थिति नहीं होगी। मार्गदर्शिका में कहा गया है कि आंगनबाड़ी केंद्रों के अंदर और आस-पास सफाई और स्वच्छता सुनिश्चित की जानी है। साथ ही उसका नियमित सेनिटाइजेशन कराया जाना है। आंगनबाड़ी सेविकाओं तथा सहायिकाओं तथा केंद्र पर आने वाले अभिभावकों द्वारा मास्क के इस्तेमाल आवश्यक है। कोरोना संक्रमण की पहचान, ईलाज और रोकथाम के लिए दिशा निर्देशों को आंगनबाड़ी केंद्रों पर प्रदर्शित किया जाना है। हाथों की नियमित सफाई, स्वच्छता, सेनिटाइजर का इस्तेमाल सुनिश्चित किया जाना है। अस्वस्थ, कमजोर, गर्भवती महिला तथा 65 वर्ष के आयु के व्यक्तियों का आंगनबाड़ी केंद्रों पर प्रवेश निषेध रहेगा। केंद्रों पर गर्म पका भोजन भंडारण, तैयारी और वितरण के दौरान स्वच्छता एवं सामाजिक दूरी का पालन सुनिश्चित करना है। ग्रामीण स्वास्थ्य, स्वच्छता एवं पोषण दिवस के दौरान ग्रोथ मॉनिटरिंग सुनिश्चित करने के दौरान हाथों की नियमित सफाई तथा वजन मशीन का सेनेटाइजेशन आवश्यक है। आंगनबाड़ी केंद्र के सभी गेट को आगमन एवं प्रस्थान के समय खुला रखा जाए ताकि एक जगह भीड़ जमा नहीं हो। आंगनबाड़ी केंद्रों पर बच्चों की उपस्थिति से पूर्व उनके माता-पिता या अभिभावक से सहमति लिया जाना चाहिए।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें