ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार औरंगाबाद मतदान प्रतिशत बढ़ाने को प्रशासन की जागरूकता रैली

मतदान प्रतिशत बढ़ाने को प्रशासन की जागरूकता रैली

डीएम ने कम मतदान प्रतिशत पर चिंता जताई, बोले- हर हाल में बढ़ाना है मतदान प्रतिशत ई एयूआर 3 कैप्शन- ओबरा में जागरूकता रैली में शामिल महिलाएं ओबरा, संवाद सूत्र। लोकसभा चुनाव में मतदान...



मतदान प्रतिशत बढ़ाने को प्रशासन की जागरूकता रैली
हिन्दुस्तान टीम,औरंगाबादTue, 14 May 2024 08:00 PM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव में मतदान प्रतिशत बढ़ाने को लेकर प्रशासन ने ओबरा में मंगलवार को प्रभात फेरी एवं जागरूकता रैली निकाली। डीएम श्रीकांत शास्त्री ने रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इसमें डीडीसी अभ्येन्द्र मोहन सिंह, जिला स्वीप कोषांग प्रभारी श्वेता प्रियदर्शी, दाउदनगर डीसीएलआर दीप शिखा, बीडीओ मो. यूनुस सलीम, सीओ हरिहरनाथ पाठक, सीडीपीओ आशा कुमारी, बीपीआरओ विकास कुमार, बीएओ पुनीत कुमार, स्वास्थ्य प्रबंधक विकास शंकर, पीओ कुमारी सरस्वती, प्रमुख शकुंतला देवी आदि थे। यह रैली प्रखंड कार्यालय से निकलकर मुख्य सड़क से होते हुए उच्च विद्यालय पहुंची। यहां डीएम ने बैठक कर कम मतदान प्रतिशत को चिंता का विषय बताया। उन्होंने जिले में मतदान का प्रतिशत बढ़ाने की बात कही। बताया कि मतदान में महिलाओं की भागीदारी पुरुष से कहीं बेहतर है। उन्होंने कहा कि 1 जून को काराकाट लोक सभा चुनाव में लोग बढ़-चढ़कर मतदान में हिस्सा लें। पहले मतदान फिर जलपान का नारा भी उन्होंने दिया। जनप्रतिनिधियों से कहा कि टीम बनाकर अपने-अपने पंचायत में लोगों को इसके लिए प्रेरित करें। इस मौके पर मुखिया सीमा अग्रवाल, मुखिया संघ अध्यक्ष उदय नारायण सिंह, मुन्ना सिंह, नागेंद्र पांडेय, पुष्कर अग्रवाल, प्रेम कुमार दुबे, विकास कुमार, छोटेलाल सिंह, देवेंद्र कुमार, रंजीत कुमार, हरिशंकर सिंह, हुमायू इकबाल, वरुण कुमार, मुकेश कुमार आदि थे। कांग्रेस नेता मो. इरफान उल हक अंसारी ने जागरूकता रैली में राजनीतिक दलों की सहभागिता नहीं होने पर आपत्ति जताई है।

---------------------------------------------------------------------------------------

मुखिया ने नल-जल चालू कराने की रखी मांग

ओबरा पंचायत की मुखिया सीमा अग्रवाल ने डीएम से वार्ड नंबर 7, 8, 11 एवं 13 में नल-जल योजना चालू करने की मांग की है। उन्होंने बताया कि पीएचईडी के द्वारा इसका सही संचालन नहीं किया जा रहा है जिसके कारण लोगों को पानी नहीं मिल रहा है। डीएम ने 24 घंटे के अंदर बंद पड़े नल-जल को चालू करने का निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिया है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।