DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

20 भैंस से लदे ट्रक सहित दो मजदूर अगवा

फारबिसगंज(अररिया) । निज संवाददाता स्थानीय ढ़ोलबज्जा के पास फोरलेन पर 20 भैंसो से लदी ट्रक सहित दो मजदूरों के अपहरण का मामला प्रकाश मे आया है। खास बात यह कि इस घटना को विगत वर्षों से प्रशासनिक संरक्षण मे चल रहे पशु कारोबारियों व तस्करों अवैध वसूली करने वालों के द्वारा ही घटना को अंजाम दिया गया है। घटना के संबंध में पीड़ित पूर्णिया के अमौर निवासी मसरूर आलम ने थाना को दिए आवेदन मे कहा है कि 30 मई को पटना के बख्तियारपुर पशु हाट से 20 भैंस से लदी ट्रक के चालक और दो मजदूरो के द्वारा पोठिया स्थित मांस फैक्टरी भेजा जा रहा था। मगर 31 मई को उक्त ट्रक स्थानीय ढ़ोलबज्जा के पास घात लगाए व्यक्ति ट्रक के आगे बोलेरो लगाकर रोक दिया और गाड़ी से उतर कर मो. वीरू पिता मो. मसुद, मो. मसुद एवं तीन चार अज्ञात जो मदारगंज सिमराहा का निवासी था। उनलोगो ने अपनी बोलेरो बीआर 11 जी/ 7875 सिलेटी रंग से उतर कर ट्रक मे चढ़कर दोनों मजदूरों को बोलेरो मे बैठा लिया और चालक को साथ-साथ चलने और नही चलने पर हत्या करने की धमकी दी। ट्रक को अगवा कर अलसमीर मीट फैक्ट्री में पहुंचाकर मसूद ने अपने नाम से सारा माल उतरवा लिया। उक्त भैस की कीमत करीब पंाच लाख रूपये था। बताया जाता है कि विगत वर्षों से ढ़ोलबज्जा के समीप पशु कारोबारियों व तस्करों से जबरन उगाही का धंधा फल फूल रहा है मगर अपहरण जैसी घटना से लेाग हतप्रद है। खास बात यह कि इस रास्ते से बड़े पैमाने पर सीमावर्ती क्षेत्रों से बंगलादेश तक पशुओं की तस्करी होती है। इस मामले में फारबिसगंज थानाध्यक्ष मुकेश कुमार साहा ने बताया कि पीड़ित मशरूर आलम के आवेदन पर मो. मसुद, मो. वीरू सहित अन्य के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Two laborers including truck laden with buffalo abduction