DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नवनिर्मित प्रसव गृह को अविलंब चालू करें:एसडीओ

जिला स्वास्थ्य समिति के नोडल अधिकारी सह एसडीओ प्रशांत कुमार ने बुधवार को सदर अस्पताल का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान एसडीओ ने प्रसव कक्ष, इमेरजेंसी वार्ड, पीडिया वार्ड, डायलिसिस यूनिट, एसएनसीयू आदि वार्डों में घूम-घूमकर स्वास्थ्य सेवाओं की जानकारी ली और अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिये।

एसडीओ सबसे पहले लेबर रूम पहुंचकर बारी-बारी से गर्भवती महिलाओं व प्रसुताओं से खाना, दवा व नर्सों द्वारा देखभाल की जाती या नहीं पूछताछ की। महिलाओं की भीड़ को देखते हुए नवनिर्मित प्रसव गृह को अविलंब चालू कराने का निर्देश दिया। स्वास्थ्यकर्मियों ने स्टॉफ की कमी से हो रही परेशानी से अवगत कराया। एसएनसीयू वार्ड में हमेशा एक डॉक्टर को तैनात रखने को कहा। पीडिया वार्ड में फिलहाल सिर्फ ओपीडी चलता है, इमेरजेंसी सेवा भी जल्द चालू करने का निर्देश दिया। डायलिसिस यूनिट में बेड की संख्या बढ़ाते हुए व्यापक स्तर पर प्रचार प्रसार करने को कहा, ताकि अधिकाधिक रोगियों को इसका लाभ मिल सके। बंदी वार्ड के खिड़कियों को मजबूत करने को कहा।

पैथोलॉजी कक्ष में रोगियों ने समय पर जांच रिपोर्ट नहीं देने की शिकायत की। कहा कि सेंपल देने के दूसरे दिन रिपोर्ट के लिये बुलायी जाती है, बावजूद समय पर रिपोर्ट नहीं मिलता। हर बीमारी के रोगियों को एक ही दवा दी जाती है। एसडीओ ने रोगियों को तय समय पर रिपोर्ट देने की हिदायत दी। दवा भंडार गृह से लेकर वितरण काउंटर तक ऑनलाईन इंडेंट करने और परिवार नियोजन काउंसलर को पंजी का सही तरीके से संधारण का निर्देश दिया।

एक सप्ताह के अंदर अस्पताल परिसर की घेराबंदी करने को कहा। निरीक्षण के बाद अस्पताल अधीक्षक कार्यालय में स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ बैठक कर नियमित रूप से पंजियों और खाना की जांच करने को कहा। इंडोर मेें भर्ती पुरूष व महिलाओं की उपस्थिति पंजी देखा। मौके पर सीएस डा. रामाधार चौधरी, अस्पताल अधीक्षक डा. आरएन सिंह, डीएस डा. जेएन माथुर, अस्पताल प्रबंधक नाजिश अहमद नियाज, डीएएम सनोज कुमार आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Turn on the newly constructed delivery house SDO