DA Image
21 सितम्बर, 2020|5:05|IST

अगली स्टोरी

बदमाशों के लिए सॉफ्ट टारगेट बना है प्राइवेट बैंक कर्मी व फोरलेन

बदमाशों के लिए सॉफ्ट टारगेट बना है प्राइवेट बैंक कर्मी व फोरलेन

नरपतगंज प्रखंड क्षेत्र से होकर गुजरने वाला एनएच व प्राइवेट बैंककर्मी बदमाशों के लिए सॉफ्ट टारगेट बना हुआ है। महज तीन माह पूर्व नरपतगंज कॉलेज के समीप चार बाइक सवार अपराधियों ने हथियार के बल पर बस को रुकवा कर बस में बैठे एक व्यवसायी से करीब पांच लाख रुपए लूटकर फरार हो गए थे। इस मामले में अभी तक कोई सुराग नहीं मिल सका है। वहीं दूसरी ओर नरपतगंज क्षेत्र में प्राइवेट बैंक कर्मी अपराधियों के सॉफ्ट टारगेट बने रहते हैं। नरपतगंज के फतेहपुर, पिठौरा, जंगीलाल चौक आदि जगह पर भी करीब आधा दर्जन से ज्यादा लूट के मामले घटित हो चुके हैं। आखिर सवाल उठता है कि जब पुलिस प्रशासन प्राइवेट बैंक कर्मियों को पुलिस को सूचना देकर सुरक्षा देने की बात लगातार कर रहे हैं।

इसके बावजूद भी बैंक कर्मी अपनी जान जोखिम में डालकर का पैसा अपने साथ लेकर बैंक जाते हैं। जिस समूह में यह लोग पैसा कलेक्शन करते हैं। वहां पर बहुत सारे लोग जमा रहते हैं। अधिकतर लोगों को पता रहता है कि इन लोगों के पास कितनी राशि है। इसी आधार पर अपराधियों को सुराग मिल जाता है। और बड़ी आसानी से घटना को अंजाम दे जाते हैं। वहीं दूसरी ओर लगातार हो रहे लूट की घटना बदमाशों द्वारा पुलिस को खुली चुनौती से कम नहीं है। फिलहाल जिला समेत नरपतगंज थाना क्षेत्र में भी अधिकतर अधिकारी नए हैं। जिस कारण से इन दिनों घटना में लगातार इजाफा ही देखा जा रहा है। हालांकि पुलिस लूट की घटना को लेकर काफी सतर्कता दिखाते हुए बदमाशों की धरपकड़ के लिए लगातार छापेमारी अभियान चला रही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Soft target has become a soft target for miscreants