DA Image
19 अक्तूबर, 2020|3:40|IST

अगली स्टोरी

छह विधायक को एक से अधिक बार विस क्षेत्र के प्रतिनिधित्व का गौरव हासिल

default image

अररिया जिले के छह विधायक ऐसे हैं जिन्हें एक से अधिक विधान सभा क्षेत्रों के प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला है। कांग्रेस के दिग्गज डूमर लाल बैठा व शीतल प्रसाद गुप्ता के पास तीन-तीन विस क्षेत्र के प्रतिनिधित्व का गौरव हासिल है तो वहीं अजीम उद्दीन, तसलीम उद्दीन, विजय कुमार मंडल व जाकिर हुसैन खान दो-दो विस के विधायक बन चुके हैं। खास बात यह कि इनमें कांग्रेस के डूमर लाल बैठा व शीतल प्रसाद गुप्ता ही पार्टी के प्रति पूरी तरह निष्ठावान दिखे। बाकी समय के अनुसार दल भी बदलते रहे। जिले का राजनीतिक इतिहास व इसके आंकड़े को गौर से देखें तो 1957 में फारबिसगंज से दो-दो विधायक बने। सुरक्षित क्षेत्र से डूमर लाल बैठा तो सामान्य सीट से शीतल प्रसाद गुप्ता। इसके बाद 1962 में डूमर लाल बैठा नरपतगंज से चुनाव लड़े और विजयी भी हुए। यादव बहुल नरपतगंज क्षेत्र में श्री बैठा पहले गैर यादव विधायक बने थे। हालांकि इसके बाद श्री उन्होंने अपना क्षेत्र बदलते हुए 1967 व 1969 में रानीगंज सुरक्षित क्षेत्र से भाग्य अजमाया और विजयी श्री का सेहरा भी अपने माथे पर बांधा। जहां तक शीतल प्रसाद गुप्ता की बात है कि वे 1957 में फारबिसगंज (सामान्य) सीट पर, 1967 व 1969 में अररिया व 1980 में सिकटी के विधायक बने। पांच बार विधायक बने अजीम उद्दीन 1962, 1967 व 1969 पलासी विस तो 1977 व 1990 में सिकटी से चुनाव जीतकर बिहार विधानसभा पहुंचे थे। पांच विधायक विधायक बने दिग्गज तसलीम उद्दीन चार बार क्रमश: 1969, 1972, 1985 व 1995 में जोकीहाट विधानसभा का प्रतिनिधित्व किया जबकि 1980 में अररिया सदर के विधायक बने। विजय कुमार मंडल चार बार विधायक बने। इसमें तीन बार क्रमश: 1995, 2000, 2009 में अररिया सदर विस का प्रतिनिधित्व किया जबकि 2015 में परिसीमन के बाद बने सिकटी के विधायक बने। जाकिर हुसैन खान दो विधायक बने हैं। वर्ष 2000 में फारबिसगंज का तो 2010 में अररिया सदर का। इन छह विधायकों की सूची में केवल विजय कुमार मंडल व जाकिर हुसैन खान ही इस बार भी विस चुनाव लड़ रहे हैं। श्री मंडल जहां सिकटी के भाजपा उम्मीदवार हैं तो वहीं जाकिर फारबिसगंज विस के कांग्रेस प्रत्याशी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Six MLAs have the distinction of representing the Vis area more than once