ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार अररियाजिले के सभी पीएचसी में क्वालिटी एश्योरेंस कमेटी का होगा गठन

जिले के सभी पीएचसी में क्वालिटी एश्योरेंस कमेटी का होगा गठन

अररिया, निज प्रतिनिधि जिले में हाल के वर्षों में सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवाओं के...

जिले के सभी पीएचसी में क्वालिटी एश्योरेंस कमेटी का होगा गठन
हिन्दुस्तान टीम,अररियाMon, 27 May 2024 11:30 PM
ऐप पर पढ़ें

अररिया, निज प्रतिनिधि
जिले में हाल के वर्षों में सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवाओं के क्षेत्र में कई सुधार हुए हैं, लेकिन कुछ वास्तविकताएं भी सामने आयी है। लोगों के बदलते स्वास्थ्य जरूरतें, बढ़ती सार्वजनिक अपेक्षाएं, स्वास्थ्य संबंधी नए महत्वकांक्षी लक्ष्य, बेहतर परिणाम व सामाजिक मूल्यों के निवर्हन को लेकर सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवाओं पर दबाव काफी बढ़ा है। लिहाजा गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाओं की निरंतरता व इसे बेहतर बनाने को लेकर विभागीय स्तर से जरूरी पहल की जा रही है। इसी कड़ी में जिला स्वास्थ्य विभाग की ओर से जिला गुणवत्ता यकीन कमेटी की तर्ज पर प्रखंड स्तरीय गुणवत्ता यकीन कमेटी के गठन व इसके सफल क्रियान्वयन को लेकर जरूरी पहल शुरू कर दी गई है। इसके माध्यम से लोगों को गुणवत्तापूर्ण चिकित्सकीय सेवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित कराते हुए इसकी बेहतरी को लेकर जरूरी प्रयास किये जा रहे हैं।

उपलब्ध सेवाओं में होगा गुणात्मक सुधार:

डीसीक्यूए डॉ मधुबाला ने बताया कि जिला स्तरीय गुणवत्ता व यकीन कमेटी की तर्ज पर प्रखंड स्तरीय गुणवत्ता यकीन कमेटी के गठन को लेकर पहल की जा रही है। राज्य स्वास्थ्य समिति के स्तर से जरूरी आदेश पूर्व से प्राप्त है। इसमें संबंधित एमओआईसी की अध्यक्षता में एक कमेटी गठन होना है। कमेटी में ओपीडी, लेबर रूम, ओटी के प्रभारी पदाधिकारी, नर्सिंग इंचार्ज आउटसोर्स के माध्यम से सेवा प्रदाता कंपनी के प्रतिनिधि आदि शामिल रहेंगे। प्रखंड स्तरीय गुणवत्ता यकीन कमेटी की बैठक आवश्यक रूप से महीने में एक बार होगी। बैठक में अस्पताल में उपलब्ध सेवाओं में गुणवत्ता में सुधार संबंधी मामलों पर चर्चा करते हुए इसे अधिक बेहतर बनाने की रणनीति पर।विचार किया जाएगा। कमेटी इस दिशा में आने वाली कमियों को चिह्नित करते हुए इसमें सुधार को लेकर पहल करेगा। जिला स्तर से उन्हें इसके लिये सभी तरह की जरूरी सहायता उपलब्ध कराया जायेगा, ताकि स्वास्थ्य सेवाओं में गुणात्मक सुधार को बढ़ावा मिल सके।

गुणात्मक सेवाओं तक आसान होगी लोगों की पहुंच:

डीपीएम स्वास्थ्य संतोष कुमार ने बताया कि विभिन्न पीएचसी व सीएचसी के माध्यम से आम लोगों को गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के उद्देश्य से प्रखंड स्तरीय गुणवत्ता यकीन कमेटी का सफल क्रियान्वयन जरूरी है। इसके माध्यम से उपलब्ध स्वास्थ्य सेवाओं की मौजूदा कमियों को चिह्नित कर इसे दूर किया जा सकेगा। स्वास्थ्य संस्थानों का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित कराया जा सकेगा। इससे गुणात्मक सेवाओं तक लोगों की पहुंच आसान होगी।

अधिकारियों को दिये गये हैं जरूरी निर्देश:

सिविल सर्जन डॉ विधानचंद्र सिंह ने बताया कि प्रखंड स्तरीय गुणवत्ता यकीन कमेटी की उपयोगिता व महत्व को देखते हुए इसका सफल क्रियान्वयन जरूरी है। राज्य स्वास्थ्य समिति के स्तर से भी इसे लेकर जरूरी आदेश प्राप्त है, लिहाजा सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को एक सप्ताह के अंदर प्रखंड गुणवत्ता व यकीन कमेटी का गठन करते हुए अनिवार्य रूप से प्रत्येक महीने इसकी बैठक सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया गया है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।