DA Image
25 नवंबर, 2020|11:17|IST

अगली स्टोरी

जिले में मुहर्रम के दौरान 205 जगहों पर तैनात रहेगी पुलिस व मजिस्ट्रेट

default image

कोरोना काल मे इस बार मुहर्रम का ताजिया जुलूस नहीं निकलेगी।सरकारी आदेश के विपरित अगर कहीं इस तरह का आयोजन किया जाता है तो इसे दंडनीय अपराध माना जाएगा और प्रशासन दोषी लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी।यह बातें डीएम प्रशांत कुमार सीएच ने मंगलवार को नगर थाना परिसर में आयोजित शांति समिति की बैठक में कही। उन्होंने कहा कि मुहर्रम के दौरान जिले में विधि व्यवस्था संधारण व किसी तरह की अप्रिय घटना पर विराम लगाने के लिये चिह्नित 205 जगहों पर दंडाधिकारी व पुलिस बल तैनात किये जायेंगे।जिले को 105 सेक्टर में बांट कर वरीय प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों की प्रतिनियुक्ति की गयी है। नगर व ग्रामीण इलाकों में इस दौरान पुलिस की गश्त लगातार जारी रहेगी।डीएम ने लोगों में इस दौरान अपने घरों में ही रहने की अपील की। उन्होंने कहा कि जिले में शांति व सद्भाव के साथ सभी पर्व—त्योहार मनाने की परंपरा रही है।विधि व्यवस्था बनाये रखने में जनप्रतिनिधि व जिले के आम आवाम से प्रशासन को मिलने वाले सहयोग की सराहना करते हुए डीएम ने मुहर्रम के दौरान जिले में शांति व्यवस्था कायम रहने का भरोसा जताया।वहीं एसपी ह्रदय कांत ने कहा कि कोरोना संकट के दौरान अब तक सभी पर्व—त्योहार बेहद सादगी के साथ मनाया गया है।मुहर्रम के दौरान भी ये सादगी बरकरार रहनी चाहिये।सरकार के साथ— साथ इस बार मुहर्रम का आयोजन नहीं किये जाने को लेकर सुन्नी वक्फ बोर्ड ने भी जरूरी दिशा निर्देश जारी किया है।ग्रामीण इलाकों में इसे ज्यादा से ज्यादा प्रचारित व प्रसारित करने की जरूरत है। प्रशासनिक तौर पर इसके लिये माइकिंग सहित अन्य उपाय किये गये हैं। इस कार्य में स्थानीय जनप्रतिनिधियों की भूमिका बेहद महत्वपूर्ण है। उन्होंने लोगो से जागरूक रहने की बात कही।एसपी ने कहा कि प्रशासनिक आदेश के इतर अगर कहीं ताजिया जुलूस सहित अन्य आयोजन होते हैं और बाद में संबंधित इलाके में किसी की कोरोना से मौत होती है तो इसके लिये संबंधित क्षेत्र में मुहर्रम कमेटी को दोषी मानकर कानूनी कार्रवाई की जायेगी। इतना ही नहीं उक्त कमेटी के लाइसेंस को हमेशा के लिए रद्द कर दिया जायेगा। उन्होंने सोशल मीडिया पर किसी तरह के अफवाह से बचने व कोई भी मैसेज वायरल करने से पहले इसके सत्यता की जांच करते हुए इसकी तत्काल सूचना पुलिस प्रशासन को उपलब्ध कराने की अपील लोगों से की। बैठक में मौजूद स्थानीय जनप्रतिनिधि सहित अन्य गणमान्य ने मुहर्रम के दौरान जिले में विधि व्यवस्था बनाये रखने के लिये अपना जरूरी सुझाव देते हुए इसमें हर संभव मदद प्रशासन को उपलब्ध कराने का भरोसा दिलाया।मौके सदर एसडीओ शैलेशचंद्र दिवाकर, एसडीपीओ पुष्कर कुमार, नप के मुख्य पार्षद रितेश कुमार राय, कार्यपालक पदाधिकारी दीनानाथ सिंह, नगर थानाध्यक्ष सुनील कुमार, महिला थानाध्यक्ष मीरा कुमार, पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष आलोक भगत, भाजपा युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष राजेश सिंह,नगर अध्यक्ष रणधीर सिंह, लवली नवाब, सुमित कुमार, संजय अकेला, कमाले हक, प्रेम मिश्रा, अफरोज आलम सहित अन्य मौजूद थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Police and magistrate will be posted at 205 places during Muharram in the district