DA Image
25 नवंबर, 2020|1:07|IST

अगली स्टोरी

कोंचिंग संस्थान को खोलने की मांग को ले डीएम को ज्ञापन

default image

आगामी वर्ष 2021 में मैट्रिक और इंटरमीडिएट के परीक्षा में सम्मिलित होने वाले छात्र— छात्राओं की समस्याओं को लेकर प्राइवेट कोचिंग एसोसिएशन के सदस्य एसोसिएशन के संस्थापक समन्यवयक राशिद जुनैद के नेतृत्व में जिला पदाधिकारी प्रशान्त कुमार सीएच को ज्ञापन देकर कोचिंग संस्थानों को तत्काल खोलने को मांग की। इस संदर्भ में राशिद जुनैद ने कहा कि बिहार सरकार द्वारा पूर्व के वर्षों की तरह मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षा हेतु रजिस्ट्रेशन कार्य नियत समय से चल रहा है। इस आधार पर परीक्षा भी निर्धारित समय पर होने की संभावना है। ऐसे में बच्चों के साथ बिल्कुल ही दोहरेपन का व्यवहार है। एक तरफ परीक्षा फॉर्म भरा जा रहा है और दूसरी तरफ शिक्षण व्यवस्था पूरी तरह ठप है। ऐसे में प्रशासन को उचित नियम के साथ तत्काल मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षा में सम्मिलित होने वाले बच्चों के लिए कम से कम दो घंटे के लिए कोचिंग संस्थानों को खोलने की अनुमति प्रदान करनी चाहिए। वही एसोसिएशन के प्रखंड समन्वयक नवनीत कुमार सिन्हा ने कहा कि आज पिछले छह महीने से कोचिंग संस्थान बंद है, और सरकार पूरी तरीके से सोई हुई है। शिक्षकों की स्थिति पूर्णत: दयनीय है। शिक्षक अपनी आजीविका को चलाने में कर्ज में डूब गए हैं। अब तो भुखमरी जैसी स्थिति वास्तविक तौर पर हो गई है। अगर सरकार ध्यान नही देगी तो एसोसिएशन को मजबूरन चरणबद्ध आंदोलन के लिए विवश होना पड़ेगा। जिला पदाधिकारी प्रशांत कुमार सीएस ने एसोसिएशन की बातों को गंभीरता से सुनने के बाद जल्दी कोई निर्णय देने की बात कही। इस मौके पर महताब अंसारी, ज्योति सिंह,कृष्णा मेहरा, गयासुद्दीन नोमानी,सदरे आलम,ज्योतिष कर्ण, मेराज अंसारी,घनश्याम कुमार, एहतेशाम अंसारी,रमाकांत यादव आदि उपस्थित थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Memorandum to DM seeking to open Conching Institute