ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार अररियाकिशनगंज: हाथियों के डर से लोग अपने खेतों पर भी जाना छोड़ा

किशनगंज: हाथियों के डर से लोग अपने खेतों पर भी जाना छोड़ा

दिघलबैंक । एक संवाददाता पिछले करीब एक माह से भारत नेपाल सीमा से सटा धनतोला

किशनगंज: हाथियों के डर से लोग अपने खेतों पर भी जाना छोड़ा
हिन्दुस्तान टीम,अररियाTue, 14 May 2024 05:00 PM
ऐप पर पढ़ें

दिघलबैंक । एक संवाददाता
पिछले करीब एक माह से भारत नेपाल सीमा से सटा धनतोला पंचायत का दुर्गा मंदिर ईट भट्ठा, मुलाबारी तथा इसके आसपास का ईलाका एलिफेंट कोरीडोर बन गया है। हालात ये हैं कि अब मक्के के बड़े पौधों के बीच विशालकाय हाथियों को दिन में भी देखपाना लोगों के लिए मुश्किल हो रहा है। ऐसे में नेपाल के जंगलों से आने वाले हाथियों के झुंड को लेकर पिछले करीब एक माह से लोग यह तक नहीं बता पा रहे हैं कि हाथी नेपाल में है या फिर सीमावर्ती भारतीय किसानों के मक्के के खेतों में हालात ये हैं कि डर से लोग अपने खेतों पर भी जाना छोड़ चुके हैं और उनकी लगभग तैयार हो चुकी मक्के कि फसल भी अब भगवान भड़ोसे हीं है। वहीं बिती रात एक बार फिर से हाथियों के झुंड ने अपने डेरा जमाए हुए जगह मुलाबारी से निकलकर जब पास के एसएसबी कैंप धनतोला के पास धाबा बोला तो कैंप के एसएसबी जवानों ने आग जलाकर तथा भोपूं बजाकर हाथियों के झुंड को कैंप से दूर भगाया अन्यथा हाथियों द्वारा कैंप को नुकसान भी पहुंचाया जा सकता था।इस दौरान हाथियों ने आसपास के खेतों में लगे मक्के की फसल को नुकसान जरूर पहुंचाया।सुबह होने से पहले हाथियों का झुंड वापस मुलाबारी के पास अपने डेरा जमाए हुए जगह पर लौट गया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।