DA Image
22 सितम्बर, 2020|10:43|IST

अगली स्टोरी

नशा मुक्त भारत अभियान की जिला कमेटी की बैठक

default image

केंद्र सरकार के सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय द्वारा शुरू किया गया नशा मुक्त भारत अभियान अगले वर्ष 31 मार्च तक चलेगा। इसका मुख्य उद्देश्य भावी पीढ़ी को नशे की गिरफ्त में आने से बचाना और नशे के आदि हो चुके लोगों को इस लत से छुटकारा दिलाना है। ऐसी जानकारी सोमवार को नशा मुक्त भारत अभियान के जिला स्तरीय समिति की बैठक में अपर समाहर्ता अनिल कुमार ठाकुर ने दी। अभियान की शुरुआत इस साल 15 अगस्त से हुई है।

दी गई जानकारी के मुताबिक बैठक में बताया गया कि अभियान के तहत नशा पीड़ित व्यक्तियों की पहचान किए जाने के लिए सामाजिक, शैक्षिक संस्थानों व वालेंटियर्स का सहयोग भी लिया जाएगा। साथ ही चिह्नित व्यक्तियों को संचालित नशा मुक्त केन्द्रों में भर्ती कर उनका उपचार किया जाएगा। मादक, नशीली पदार्थों से होने वाली बीमारियों के बारे में आम लोगों को जागरूक करने के लिए पंचायत स्तर विभिन्न माध्यमों से प्रचार प्रसार किया जाएगा। इस मामले में संबंधित पदाधिकारियों को 10 सितंबर तक कार्य योजना तैयार करने का निर्देश दिया गया। ये भी कहा गया कि प्रचार प्रसार में कोविड—19 के गाइडलाइन का शत प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित करना जरूरी होगा। बैठक में जिला विधिक प्राधिकार के प्रतिनिधि, सिविल सर्जन, जिला शिक्षा पदाधिकारी, जिला प्रोग्राम पदाधिकारी आईसीडीएस, जिला कल्याण पदाधिकारी के अलावा सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी परवेज आलम, सहायक निदेशक सामाजिक सुरक्षा कोषांग, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:District Committee Meeting of the Drug Free India Campaign