Dirty water drain on the historic road - ऐतिहासिक सड़क पर बह रहा नाले का गंदा पानी DA Image
19 नबम्बर, 2019|5:27|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऐतिहासिक सड़क पर बह रहा नाले का गंदा पानी

ऐतिहासिक सड़क पर बह रहा नाले का गंदा पानी

1 / 6शहर के मुख्य चौराहा एडीबी चौक से आश्रम चौक जाने वाली ऐतिहासिक सड़क नाला बन कर रह गयी है। इसकी मरम्मत को लेकर नगर परिषद, जिला प्रशासन के साथ स्थानीय जनप्रतिनिधि उदासीन बने हुए हैं। इससे इस होकर...

ऐतिहासिक सड़क पर बह रहा नाले का गंदा पानी

2 / 6शहर के मुख्य चौराहा एडीबी चौक से आश्रम चौक जाने वाली ऐतिहासिक सड़क नाला बन कर रह गयी है। इसकी मरम्मत को लेकर नगर परिषद, जिला प्रशासन के साथ स्थानीय जनप्रतिनिधि उदासीन बने हुए हैं। इससे इस होकर...

ऐतिहासिक सड़क पर बह रहा नाले का गंदा पानी

3 / 6शहर के मुख्य चौराहा एडीबी चौक से आश्रम चौक जाने वाली ऐतिहासिक सड़क नाला बन कर रह गयी है। इसकी मरम्मत को लेकर नगर परिषद, जिला प्रशासन के साथ स्थानीय जनप्रतिनिधि उदासीन बने हुए हैं। इससे इस होकर...

ऐतिहासिक सड़क पर बह रहा नाले का गंदा पानी

4 / 6शहर के मुख्य चौराहा एडीबी चौक से आश्रम चौक जाने वाली ऐतिहासिक सड़क नाला बन कर रह गयी है। इसकी मरम्मत को लेकर नगर परिषद, जिला प्रशासन के साथ स्थानीय जनप्रतिनिधि उदासीन बने हुए हैं। इससे इस होकर...

ऐतिहासिक सड़क पर बह रहा नाले का गंदा पानी

5 / 6शहर के मुख्य चौराहा एडीबी चौक से आश्रम चौक जाने वाली ऐतिहासिक सड़क नाला बन कर रह गयी है। इसकी मरम्मत को लेकर नगर परिषद, जिला प्रशासन के साथ स्थानीय जनप्रतिनिधि उदासीन बने हुए हैं। इससे इस होकर...

ऐतिहासिक सड़क पर बह रहा नाले का गंदा पानी

6 / 6शहर के मुख्य चौराहा एडीबी चौक से आश्रम चौक जाने वाली ऐतिहासिक सड़क नाला बन कर रह गयी है। इसकी मरम्मत को लेकर नगर परिषद, जिला प्रशासन के साथ स्थानीय जनप्रतिनिधि उदासीन बने हुए हैं। इससे इस होकर...

PreviousNext

शहर के मुख्य चौराहा एडीबी चौक से आश्रम चौक जाने वाली ऐतिहासिक सड़क नाला बन कर रह गयी है। इसकी मरम्मत को लेकर नगर परिषद, जिला प्रशासन के साथ स्थानीय जनप्रतिनिधि उदासीन बने हुए हैं। इससे इस होकर गुजरनेवाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है।

वर्षों से जर्जर इस सड़क को लेकर पहले विभाग की स्पष्टता नहीं थी, जब नप को एनओसी मिला तो प्राक्कलन अड़े आ गया। वहीं स्थानीय लोगों ने भी कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है। सड़क किनारे नाले को जगह-जगह निजी काम के लिये भर दिया गया है।

इस पर नगर परिषद की चुपी के कारण बिना बारिश के यह सड़क तालाब में तब्दील हो गई है। लोगों का चलना मुश्किल हो गया है। आने जाने वाले लोग एक बार जरूर प्रशासन को कोसते हैं। खासकर स्कूल जाने वाले बच्चों को काफी परेशानी हो रही है। सड़क के किनारे बने नाला जाम है। मुहल्ले का सारा पानी सड़क पर जमा हो रहा है।

इधर नप प्रशासन सालों से प्राक्क्लन तैयार होने की बात कहकर अपना पलड़ा झाड़ रहे हैं। अबतो लोगों की निगाह डीएम पर टीकी है। इसी सड़क में बालिका उच्च विद्यालय, महिला कॉलेज सहित अन्य सरकारी दफ्तर हैं। नप प्रशासन के अला अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों का भी आना जाना होता है।

बापू भी चले थे इस सड़क पर: यह सड़क शहर के लिए एक धरोहर भी है। स्वतंत्रता संग्राम के समय 1925 में बापू इसी मार्ग होकर पैदल गुजरे थे। उनके पीछे-पीछे सैकड़ों की संख्या में लोग थे। नप को इसका भी ख्याल नहीं है।

लोगों का दर्द, इस सड़क से गुजरना जोखिम भरा: इस सड़क की दुर्दशा को लेकर लोगों में आक्रोश है। स्थानीय निवासी पुरुषोत्तम ने कहा कि सालों से सड़क जर्जर है। नाले का पानी बह रहा है। लोगों का चलना मुश्किल हो गया है। एडीबी चौक के समीप दुकानदार संतोष शर्मा, इलेक्ट्रॉनिक्स वाले राजू, गैरेज के फिरोज, गुड्डू, अलीम हुसैन, दिनेश, मेडिकल दुकानदार पिन्टु, आलोक पासवान, मसीबुल हक, जीतेन्द्र कुमार, राजीव आदि लोगों ने कहा कि सड़क जर्जर होने से काफी परेशानी होती है। नाला का भी गंदा पानी सड़क पर है। बीमारी फैलने की संभावना बढ़ जाती है। लेकिन कोई इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है। नप को मौखिक व लिखित रूप से कई बार इसको लेकर अवगत कराया गया है। लेकिन स्थिति जस की तस है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Dirty water drain on the historic road