DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › अररिया › बांध को दुरूस्त करने में जुटे ठेकेदार, ग्रामीणों की पैनी नजर
अररिया

बांध को दुरूस्त करने में जुटे ठेकेदार, ग्रामीणों की पैनी नजर

हिन्दुस्तान टीम,अररियाPublished By: Newswrap
Sat, 05 Jun 2021 10:20 PM
बांध को दुरूस्त करने में जुटे ठेकेदार, ग्रामीणों की पैनी नजर

फारबिसगंज । (नि. सं.)

करीब चार वर्षों के बाद पिपरा स्थित परमान नदी के टूटे तटबंध की मरम्मत को लेकर अगल बगल के ग्रामीणों में बेशक उत्साह है मगर जिस तरह से मानसून दस्तक देने को आतुर है और बांध अभी तक बनकर तैयार नहीं है इसको लेकर चिंता भी काफी बढ़ गई है । बता दें कि दो दिन पूर्व डीएम प्रशांत कुमार सीएच द्वारा बांध का पूर्ण रूप से निरीक्षण किया गया था क्योंकि बांध में ग्रामीणों द्वारा गुणवत्ता का सवाल उठाया गया था । ग्रामीणों द्वारा कई खामियां गिनाई गई थी। इस मामले में डीएम ने विभाग एवं ठेकेदार को स्पष्ट तौर पर बांध की ऊंचाई को बढ़ाने सहित समय सीमा के अंदर गुणवत्ता के साथ बांध की बरामती के निर्देश दिए थे। खास बात यह कि ग्रामीणों द्वारा यह आरोप भी लगाया गया कि इस बांध को मिट्टी से बनाया जाना है मगर बांध में मिट्टी के बजाय बालू का इस्तेमाल किया गया है । हालांकि डीएम इस मामले पर गंभीरता बरतते हुए मिट्टी को सैंपल के तौर पर संग्रह किए और शीघ्र ही इसके जांच करने के आदेश दिए कि बांध में मिट्टी का प्रयोग हुआ है अथवा बालू का। बता दें इसके अलावा और कई सवाल भी उठाए गए थे। मसलन करीब 100 मीटर दूरी तक बांध का निर्माण अतिरिक्त तौर पर कराया जाय ताकि परमान नदी में जब पानी का प्रभाव बढ़ेगा तो पानी नीचे सतह होने के कारण अपनी धारा न बना ले। हालांकि ग्रामीणों का कहना है कि ठेकेदार द्वारा काम को पूरा कर लिया गया था मगर जब उन लोगों ने आरोप लगाया और प्रशासन द्वारा इसकी जांच हुई तो फिर अब बांध को आनन-फानन में पूरा करने की तैयारी कर रहे हैं । हालांकि डीएम के निरीक्षण के बाद ठेकेदार द्वारा काम में सुधार की दिशा में कार्यरत देखे जा रहे हैं। जगह-जगह मिट्टी पर भाईव्रेटर इस्तेमाल किया जा रहा है। ऐसे में कई काम दिख रहा है जो डीएम के निरीक्षण के बाद अंजाम दिया जा रहा है। जिस बांध को विगत 15 मई तक पूरा हो जाना था उसे अब तक पूरा नही होने की चिंता ग्रामीणों पर देखा जा सकता है।

संबंधित खबरें