DA Image
23 नवंबर, 2020|3:16|IST

अगली स्टोरी

अररिया में बस पकड़ने के लिए यात्रियों के बीच मारामारी

अररिया में बस पकड़ने के लिए यात्रियों के बीच मारामारी

1 / 3छठ का त्योहार मनाने आए नौकरी पेशा व दूसरे प्रदेशों में काम करने वाले लोगों का घरों से वापस लौटना शुरू हो गया है। रविवार को बसों व अन्य वाहनों में भारी भीड़ देखी गई, जिससे यात्रियों को बेहद परेशानियों...

अररिया में बस पकड़ने के लिए यात्रियों के बीच मारामारी

2 / 3छठ का त्योहार मनाने आए नौकरी पेशा व दूसरे प्रदेशों में काम करने वाले लोगों का घरों से वापस लौटना शुरू हो गया है। रविवार को बसों व अन्य वाहनों में भारी भीड़ देखी गई, जिससे यात्रियों को बेहद परेशानियों...

अररिया में बस पकड़ने के लिए यात्रियों के बीच मारामारी

3 / 3छठ का त्योहार मनाने आए नौकरी पेशा व दूसरे प्रदेशों में काम करने वाले लोगों का घरों से वापस लौटना शुरू हो गया है। रविवार को बसों व अन्य वाहनों में भारी भीड़ देखी गई, जिससे यात्रियों को बेहद परेशानियों...

PreviousNext

छठ का त्योहार मनाने आए नौकरी पेशा व दूसरे प्रदेशों में काम करने वाले लोगों का घरों से वापस लौटना शुरू हो गया है। रविवार को बसों व अन्य वाहनों में भारी भीड़ देखी गई, जिससे यात्रियों को बेहद परेशानियों का सामना करना पड़ा। विदित हो कि लोकआस्था का माह पर्व छठ पर क्षेत्र से बाहर के राज्यों व दूसरे शहरों में काम व नौकरी करने वाले लोग अपने घरों पर त्योहार मनाने आए थे। त्योहार संपन्न होने के बाद उनका अब अपने कार्यस्थलों पर वापस लौटने का सिलसिला शुरू हो गया है। त्योहारी सीजन होने व अधिकांश का रविवार तक अवकाश होने के कारण लोगों ने शनिवार तक मिली छुट्टी का खूब लुत्फ उठाया और अपने अपने घरों में परिवार के साथ पर्व मनाया। बड़ी संख्या में वे रविवार को घरों से वापस लौटे तो तमाम वाहन नीचे से लेकर ऊपर छतों तक भरे हुए नजर आए। भीड़ का आलम यह था कि उनमें पैर रखने भर तक की जगह नही दिखाई दी। चूंकि कोरोना की वजह से ट्रेनों का परिचालन बंद है लिहाजा शहर से बाहर जाने के लिए एक मात्र उपाय पब्लिक ट्रांसपोर्ट ही है। हालांकि वर्तमान में जोगबनी से कटिहार के लिए इक्का दक्का पूजा स्पेशल ट्रेनें चल रही है। अररिया से कटिहार, पूर्णिया व अन्य जगहों की ओर जाने वाले वाहनों की यही स्थिति देखने को मिली। ऐसा होने से बाहर की ओर जाने वाले यात्रियों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। इसके चलते यात्री रोडवेज बसों के अलावा तमाम निजी वाहनों की छतों पर लटककर गंतव्य तक पहुंचने को बिना परवाह किए यात्रा करते देखे गए। यही हाल सहरसा,मधेपुरा जाने वाली बसों व अन्य वाहनों में भी कमोवेश यही स्थिति देखने को मिली। यात्री वाहनों में भीड़ की वजह से कई लोग भाड़े की छोटी गाड़ियों से अपने गंतब्य की ओर रवाना होते दिखे। बिहार से बाहर जाने व फ्लाइट पकड़ने के लिए कई लोगो ने निजी वाहन से बागडोगरा के लिए रवाना हुए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Clashes between passengers to catch a bus in Araria