DA Image
28 फरवरी, 2021|3:15|IST

अगली स्टोरी

प्राइवेट अस्पताल में 65 वर्षीय वृद्ध की मौत, हंगामा व तोड़फोड़

प्राइवेट अस्पताल में 65 वर्षीय वृद्ध की मौत, हंगामा व तोड़फोड़

1 / 2फारबिसगंज । (नि. सं.) 65 वर्षीय वृद्ध मरीज की मौत से आक्रोशित परिजन व ग्रामीणों

प्राइवेट अस्पताल में 65 वर्षीय वृद्ध की मौत, हंगामा व तोड़फोड़

2 / 2फारबिसगंज । (नि. सं.) 65 वर्षीय वृद्ध मरीज की मौत से आक्रोशित परिजन व ग्रामीणों

PreviousNext

फारबिसगंज । (नि. सं.)

65 वर्षीय वृद्ध मरीज की मौत से आक्रोशित परिजन व ग्रामीणों ने शनिवार की सुबह फारबिसगंज फोरलेन स्थित डॉक्टर जीएन चौपाल के ईश्वर दयाल अस्पताल में जमकर हंगामा किया। इस दौरान आक्रोशितों ने अस्पतालों में तोड़फोड़ कर कई बाइक को क्षतिग्रस्त कर दिाय। इसके बाद अस्पताल के सामने टायर जलाकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी डॉकटर व अस्पताल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगा रहे थे। हंगामा और तोड़फोड़ का वीडियो बनाने वालों को कर पिटाई करने की भी खबर है। स्थिति देख चिकित्सक, दवा दुकानदार सहित सभी स्टाफ गायब हो गए। मृतक दयानंद यादव किरकिचिया पंचायत स्थित महेश मुड़ी का निवासी था। पैशे से वे किसान थे। वे अपने पीछे एक पुत्र और चार पुत्री छोड़ गए। मृतक के परिजन नीरज यादव ने बताया कि दयानंद का 20 जनवरी को पेट का ऑपरेशन किया गया था। शुक्रवार की देर शाम अचानक उनकी तबियत बिगड़ गई। आक्सीजन की कमी व डॉक्टर की लापरवाही के कारण उनके मरीज की मौत हुई। उन्होंने मौत के लिए चिकित्सक एवं दवा दुकानदार पर कई तरह के आरोप लगाये। शनिवार की अलसुबह करीब दो बजे रात में ही मरीज की मौत हो गई थी। इसके बाद से परिजनों का हंगामा जारी था। सुबह तक हंगामा चलता रहा। मामला तब थमा जब पीड़ित परिजनों एवं चिकित्सक के बीच समन्वय स्थापित किया गया। इस मौके पर समाजसेवी कपिल अंसारी, मुखिया प्रतिनिधि मनोज विश्वास, मिथिलेश यादव, मोहम्मद इशाक, लक्ष्मी पासवान, संतोष यादव, नंदन यादव, सुभाष यादव, सुबोध यादव, विनोद यादव, प्रकाश यादव, विकास यादव सहित सैकड़ों लोग शामिल थे। इधर चिकित्सक जीएन चौपाल ने कहा कि उनकी ओर से कोई नेगलिजेंसी नहीं हुई है। ऑक्सीजन की कमी नहीं थी। कमी होने पर मैंने अपनी ओर से आक्सीजन की व्यवस्था की। किडनी फेल होने के कारण मरीज की मौत हुई है। स्थिति पहले से बेहद नाजुक था। दवा दुकानदार से उनका कोई लेना-देना नहीं है। इधर घटनास्थल पर दारोगा विजेंद्र सिंह हरेंद्र अंचल सहित बड़ी संख्या में पुलिस के जवान व टाइगर मोबाइल मौजूद थे। हो हंगामा के दौरान पुलिसकर्मियों को भी हल्की चोटें आई है। दारोगा विजेंद्र सिंह ने कहा कि आक्रोशित परिजनों व अन्य लोगों द्वारा हंगामा किया गया। फिलहाल मामला शांत है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:65 year old dies commotion and sabotage in private hospital